बुधवार, जुलाई 6Digitalwomen.news

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री को लेकर सस्पेंस अभी भी बरकरार, विधायक दल की होने वाली बैठक को टाला गया

Suspense over Uttarakhand CM still persists, legislature party meeting postponed
Suspense over Uttarakhand CM still persists, legislature party meeting postponed
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री के नाम को लेकर बने सस्पेंस अभी भी बरकरार है। इसी बीच कार्यवाहक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक अचानक दिल्ली बुलाए गए हैं। वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उन्हें केंद्रीय नेतृत्व ने बुलाया है। दिल्ली में पार्टी की कोर ग्रुप की बैठक में दोनों नेताओं के शामिल होने की चर्चा है। बताया जा रहा है कि इस बैठक में दोनों नेताओं से मुख्यमंत्री के चेहरे और मंत्रिमंडल के गठन को लेकर चर्चा हो सकती है।बता दें कि उत्तराखंड में आज विधायक दल की बैठक होने वाली थी, जिसमें मुख्यमंत्री का चेहरा भी साफ होने वाला था। लेकिन अचानक से पुष्कर सीधा में और मदन कौशिक को दिल्ली बुलाया गया। कहा जा रहा है कि अब विधायक दल की बैठक सोमवार या मंगलवार को होना तय हुआ है।

इधर, भाजपा नई सरकार के शपथग्रहण की तैयारी में जुटी है इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी दिल्ली पहुंचे हैं। उनकी वहां राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष से मुलाकात की चर्चा है। त्रिवेंद्र की इस मुलाकात के सियासी मायने टटोले जा रहे हैं। त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि उनकी राष्ट्रीय अध्यक्ष से मुलाकात हुई है।

मुख्यमंत्री के चेहरे पर सस्पेंस बरकरार, नामों की लंबी सूची:

उत्तराखंड में चुनाव परिणाम के बाद मुख्यमंत्री को लेकर भाजपा अभी तक एक नाम तय नहीं कर पाई है। मुख्यमंत्री के पद के लिए उत्तराखंड में कई नाम चर्चा में है। जिसमें कार्यवाहक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सबसे आगे हैं। उनके अलावा विधायकों में कद्दावार नेता सतपाल महाराज, डॉ. धन सिंह रावत और ऋतु खंडूड़ी के नाम की भी चर्चा है। वहीं एक नाम और भी इस सूची में शामिल हो गया है वो है लैंसडौन के विधायक दिलीप सिंह रावत का नाम। गैर विधायकों में सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक, केंद्रीय राज्यमंत्री अजय भट्ट और सांसद अनिल बलूनी के नामों की सबसे ज्यादा चर्चा है। लेकिन पार्टी नेताओं का मानना है कि केंद्रीय नेतृत्व सीएम पद के लिए कौन सा नाम सामने ले आए, इस बारे में कुछ भी कहना मुश्किल है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: