शनिवार, नवम्बर 26Digitalwomen.news

एग्जिट पोल्स के बाद हलचल: मतगणना से पहले दलों का हाईलेवल मंथन शुरू, यूपी-उत्तराखंड में चढ़ा सियासी पारा

Parties busy with post-poll calculations after exit polls
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के एग्जिट पोल आने के बाद सियासी पार्टियों में जबरदस्त हलचल है।यूपी, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा, मणिपुर में 10 मार्च मतगणना को लेकर हाईलेवल की बैठकों का दौर शुरू हो गया है। अब तक के सभी एग्जिट पोल्स के अनुसार यूपी में बीजेपी की वापसी नजर आ रही है। वहीं, पंजाब में आम आदमी पार्टी, मणिपुर में भी बीजेपी सरकार के संकेत हैं। उत्तराखंड में भाजपा और कांग्रेस के बीच करीबी टक्कर है तो गोवा में कांटे की टक्कर का अनुमान एग्जिट पोल में जताया गया है। उत्तराखंड में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत अपनी-अपनी सरकार बनाने के दावे कर रहे हैं। चुनाव के परिणाम से पहले आए एग्जिट पोल के नतीजों ने उत्तराखंड में भाजपा और कांग्रेस दोनों के चेहरे पर खुशी बिखेर दी है। कांग्रेस के राष्ट्रीय स्तर के नेताओं का राजधानी देहरादून में जमावड़ा है। प्रदेश महामंत्री संगठन मथुरादत्त जोशी ने बताया कि प्रदेश कार्यालय में महत्वपूर्ण बैठक है। इसमें पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल, नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह, प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, तीनों सह प्रभारी दीपिका पांडे सिंह, कुलदीप इंदौरा, राजेश धर्माणी, मुख्य पर्यवेक्षक मोहन प्रकाश जोशी भाग लेंगे। वहीं मतगणना से पहले भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी राजधानी देहरादून में डेरा डाल लिया है। विजयवर्गीय के अचानक देहरादून दौरे को लेकर सियासी हलचलें बढ़ गई हैं। विजयवर्गीय यहां पार्टी नेताओं के साथ बैठक कर मंथन करने में लगे हुए हैं। ‌मतगणना से ठीक पहले कैलाश विजयवर्गीय की उत्तराखंड में उपस्थिति को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपनी पार्टी के नेताओं को अलर्ट कहा कि खरीद-फरोख्त में माहिर खिलाड़ी एक बार फिर उत्तराखंड पहुंच चुका है, हालांकि कांग्रेस पहले से सचेत है।

एग्जिट पोल ने बढ़ाई अखिलेश की धड़कनें, यूपी में भाजपा-सपा की बैठकें शुरू–

Exit Polls 2022 Predictions for UP, Punjab, Goa, Manipur & Uttarakhand

एग्जिट पोल में सबसे बड़ा झटका उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी को लगा है। विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपनी सरकार बनाने की तैयारी भी शुरू कर दी थी। लेकिन एग्जिट पोल में उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। वहीं यूपी में अगर सभी एग्जिट पोल्स के अनुसार भाजपा प्रचंड बहुमत से आती दिख रही है। ‌ चुनाव के दौरान समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव सरकार बनाने का दावा कर रहे थे। ‌एग्जिट पोल के बाद सपा खेमे में खामोशी छाई हुई है। वहीं दूसरी ओर भाजपा के नेता उत्साहित है। हालांकि यह अभी एग्जिट पोल के आंकड़े हैं, असली तस्वीर 10 मार्च को साफ होगी। दूसरी ओर प्रदेश के प्रशासनिक अफसर भी दो दिन तक चुप्पी बनाए हुए हैं। ‌वहीं दूसरी ओर भाजपा नेता खुश नजर आ रहे हैं। एग्जिट पोल के बाद डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का ट्वीट कर कहा कि एग्जिट पोल में ही सपा और श्री अखिलेश यादव जी के दावों और साइकिल की हवा निकल गई है। मतलब यूपी की जनता 10 मार्च को सपा को समाप्त वादी पार्टी बना रही है। 400 सीट जीत का दावा करने वाले अखिलेश यादव जी मतगणना के पहले ही 300 पर आ गए, 10 मार्च को गठबंधन के साथ 100 भी नहीं जीत पाएंगे, प्रचंड बहुमत की भाजपा सरकार फिर बनेगी। वहीं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने लखनऊ स्थित पार्टी मुख्यालय में कहा कि विधानसभा चुनाव में पार्टी के सभी देवतुल्य कार्यकर्ताओं ने पूर्ण समर्पण के साथ बिना रुके, बिना थके, सतत परिश्रम किया है, उनके परिश्रम से प्रदेश में फिर एक बार कमल खिलने जा रहा है। एग्जिट पोल के बीच समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि हम सरकार बना रहे हैं। अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कहा कि सातवें और निर्णायक चरण में एसपी गठबंधन की जीत को बहुमत से बहुत आगे ले जाने के लिए सभी मतदाताओं और विशेषकर युवाओं का बहुत-बहुत आभार, हम सरकार बना रहे हैं। अखिलेश यादव ने आज एक बार फिर ट्वीट करते हुए सभी एग्जिट पोल को नकार दिया है। ‌वहीं दूसरी ओर राजधानी लखनऊ में भाजपा सपा की बैठकों और मुलाकात का दौर शुरू हो गया है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: