मंगलवार, मई 17Digitalwomen.news

हरीश रावत ने कहा- उत्तराखंड में भाजपा को भगा दिया है अब यूपी में हराने आया हूं

BJP chased away from hill state, now it’s UP’s turn Harish Rawat
JOIN OUR WHATSAPP GROUP

उत्तराखंड में 14 फरवरी को विधानसभा का चुनाव खत्म होने के बाद आखिरकार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की उत्तर प्रदेश में भी एंट्री हो गई है। अभी तक हरीश रावत उत्तराखंड में ही कांग्रेस की सरकार बनने को लेकर लगातार अपने बयानों से सुर्खियों में थे। ‌इसके साथ हरीश और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के बीच अपनी-अपनी सरकार बनाने को लेकर जुबानी जंग भी खूब जोरदार तरीके से हुई। (दोनों नेताओं के बीच बात मुंगेरीलाल के हसीन सपने तक पहुंच गई थी) ‌अब हरीश रावत यूपी में बचे तीन चरणों के चुनाव प्रचार करने प्रयागराज पहुंचे हैं। उत्तराखंड में हरीश रावत पुष्कर सिंह धामी पर निशाना साधे हुए थे जब यूपी गए तब उनके निशाने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आ गए। हरीश रावत ने योगी आदित्यनाथ पर तंज कसा और कहा कि हार के बाद उन्हें कुटिया बनाने के लिए उत्तराखंड में जमीन दे देंगे। उन्होंने यह भी दावा किया कि उत्तराखंड में भारतीय जनता पार्टी की हार होगी। सीएम पद के लिए दावेदारी जताने में जुटे हरीश रावत ने कहा कि उत्तराखंड में कांग्रेस को बहुमत मिलेगा। उन्होंने यूपी में भी बीजेपी की हार का दावा करते हुए सीएम योगी पर कटाक्ष किया। हरीश रावत ने कहा, कि भाजपा को उत्तराखंड से भगा दिया गया है। हम सीएम योगी को चुनाव हारने के बाद उत्तराखंड में कुटिया बनाने के लिए जगह दे देंगे। यहां आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मूल निवासी उत्तराखंड के हैं। उनका जन्म पौड़ी गढ़वाल में हुआ था। उनका असली नाम अजय बिष्ट है। वहीं दूसरी ओर उत्तराखंड में कांग्रेस प्रदेश में डिजिटल सदस्यता अभियान तेजी से चलाएगी। अभियान को 31 मार्च तक पूरा किया जाएगा। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और चकराता विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी प्रीतम सिंह ने कहा कि डिजिटाइजेशन वर्तमान युग की महत्वपूर्ण आवश्यकता है। अब यह तकनीक गांव-गांव तक पहुंच गई है। दूरदराज पर्वतीय क्षेत्रों में कनेक्टिविटी की समस्या है। इन क्षेत्रों में पुराने तरीके से सदस्यता अभियान जारी रखा जा सकता है। वहीं दूसरी ओर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि उत्तराखंड प्रदेश का पहला राज्य है, जिसने मात्र तीन महीने के भीतर दो लाख सदस्य बनाए हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: