बुधवार, फ़रवरी 8Digitalwomen.news

580 वर्षों में सबसे लंबा आंशिक चंद्रग्रहण आज, बस थोड़ी ही देर में दिखेगा नजारा

Lunar eclipse today on November 19

दुनिया में आज आंशिक चंद्रग्रहण का नजारा दिखने वाला है। यह साल 2021 का आखिरी चंद्रग्रहण होगा। माना जा रहा है यह 580 साल बाद सबसे लंबा चंद्र ग्रहण होगा।
भारतीय समय के अनुसार यह चंद्रग्रहण सुबह 11 बजकर 32 मिनट से शुरू हो जाएगा जो शाम के 5 बजकर 59 मिनट पर समाप्त होगा।

चंद्रग्रहण का महत्व :
आज कार्तिक पूर्णिमा के पर्व के साथ साल का आखिरी चंद्रग्रहण भी लग रहा है। शास्त्रों में चंद्रग्रहण का विशेष महत्व होता है। हिंदू धर्म में ग्रहण के समय को अशुभ माना जाता है। माना जाता है कि ग्रहण काल के समय किसी भी तरह का शुभ कार्य नहीं करना चाहिए। भारत में यह एक उपच्छाया चंद्रग्रहण होगा जबकि बाकी दुनिया में एक आंशिक चंद्रग्रहण होगा। भारतीय समय के अनुसार यह


क्या है इस चंद्रग्रहण में खास:

  • 19 नवंबर 2021 को लगने वाला चंद्र ग्रहण 580 वर्षों में सबसे लंबा आंशिक चंद्रग्रहण होगा।
  • साल 2021 का यह आखिरी चंद्रग्रहण भारत में सिर्फ पूर्वोत्तर हिस्सों में कुछ ही देर के लिए दिखाई देगा। सूर्यास्त होते समय ही इस चंद्रग्रहण को अरुणाचल प्रदेश और असम के कुछ क्षेत्रों में देखा जा सकेगा।
  • यह आंशिक चंद्रग्रहण 19 नवंबर के दिन सुबह 11 बजकर 34 मिनट बजे शुरू होगा और शाम 5.58 बजे समाप्त होगा।
  • इस आंशिक चंद्रग्रहण ग्रहण की कुल अवधि 03 घण्टे 26 मिनट की होगी। उपच्छाया चंद्र ग्रहण की कुल अवधि 05 घण्टे 59 मिनट की होगी।
  • 19 नवंबर 2021 को लगने वाला यह आंशिक चंद्र ग्रहण उत्तरी अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, पूर्वी एशिया, ऑस्ट्रेलिया, अफ्रीका और प्रशांत क्षेत्र में दिखाई देगा।
  • इससे पहले इतना लंबा आंशिक चंद्रग्रहण 18 फरवरी 1440 को लगा था और अगली बार ऐसा ही आंशिक चंद्रग्रहण 08 फरवरी 2669 को दिखाई देगा।
  • यह आंशिक चंद्रग्रहण का पूरा प्रभाव दोपहर 2.34 बजे दिखाई देगा, जब चंद्रमा का 97 फीसदी हिस्सा पृथ्वी की छाया से ढक जाएगा।
  • भारत में दिखाई देने वाला अगला चंद्रग्रहण 08 नवंबर 2022 को होगा।
  • ज्योतिष के नजरिए से साल का यह आखिरी आंशिक चंद्रग्रहण वृषभ राशि और कृतिका नक्षत्र में लगेगा।
  • उपच्छाया चंद्र ग्रहण के कारण भारत में यह दिखाई नहीं देगा इसलिए इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा।

 चंद्र ग्रहण में क्या न करें:

शास्त्रों में चंद्रग्रहण को देखना अशुभ माना जाता गया है। जब ग्रहण काल शुरू होता है तो उस दौरान कुछ कार्य करना वर्जित होता है। ग्रहण के दौरान पूजा-पाठ नहीं किया जाता। ग्रहण में गर्भवती महिलाओं को विशेष सावधानी बरतनी होती है। ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं घर से बाहर न निकलें और कोई भी धारदार चीज का प्रयोग न करें। ग्रहण के दौरान भोजन नहीं किया जाता।

Leave a Reply

%d bloggers like this: