शनिवार, नवम्बर 27Digitalwomen.news

कांग्रेस ने हिंदुत्व पर प्रहार कर विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा की सियासी पिच तैयार कर दी

देश में धर्म की सियासत फिर उफान पर है। हिंदू और हिंदुत्व को लेकर भाजपा और कांग्रेस के बीच घमासान जारी है। भाजपा हिंदुत्व के मुद्दे पर कांग्रेस पर प्रचंड प्रहार कर विचारधारा को हिंदू विरोधी बता रही है। पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में भाजपा के लिए एक बार फिर हिंदुत्व का बड़ा मुद्दा बनने जा रहा है। पिछले महीने 31 अक्टूबर को पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का मोहम्मद अली जिन्ना पर प्रेम भाजपा हिंदुत्व के मुद्दे पर सपा को घेरने की तैयारी कर रही थी कि कांग्रेस ने भी हिंदुत्व मुद्दे पर प्रहार कर योगी सरकार को और मजबूत कर दिया है। ‌उल्लेखनीय है कि सलमान खुर्शीद ने अपनी पुस्तक ‘सनराइज ओवर अयोध्या’ में हिंदुत्व को लेकर टिप्पणी की थी। खुर्शीद ने अपनी किताब में लिखा, ‘आज के हिंदुत्व का राजनीतिक रूप, एक तरह से साधु-संतों के सनातन और प्राचीन हिंदू धर्म को किनारे लगा रहा है, जो निश्चित तौर पर आईएसआईएस और बोको हरम जैसे जिहादी इस्लामी संगठनों जैसा ही प्रतीत होता है’। उसके बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राशिद अल्वी ने हिंदू की तुलना निशाचर से कर इस सियासी आग को और भड़का दिया। ‌इसके बाद कांग्रेस के वायनाड से सांसद राहुल गांधी भी धर्म की सियासत में कूद गए । राहुल गांधी ने हिन्दुत्व के मुद्दे पर बीजेपी और आरएसएस पर बड़ा हमला बोला । राहुल ने कहा है कि हम हिंदू हैं, हमें हिन्दुत्व की जरूरत नहीं है। राहुल गांधी ने भाजपा और संघ पर सवाल उठाते हुए कहा कि वे किस तरह के हिंदू धर्म का प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा भाजपा और आरएसएस की घृणास्पद विचारधारा से ढंक गई है। राहुल गांधी के हिंदू धर्म और हिंदुत्व के साथ ही कांग्रेस विचारधारा को शिव से जोड़ने पर संबित पात्रा ने पलटवार किया । पात्रा ने कहा कि गांधी परिवार हिंदू धर्म के खिलाफ है। कांग्रेस और गांधी परिवार का यह चरित्र रहा है। इन लोगों को जब भी मौका मिलता है ये लोग ऐसा करते हैं। राहुल गांधी ने हिंदू धर्म पर हमला किया है। संबित पात्रा ने कहा कि ये पहली बार नहीं है कि राहुल गांधी ने इस तरह का बयान दिया है। बीजेपी प्रवक्ता पात्रा ने कहा कि कांग्रेस नेताओं के बयान संयोग नहीं प्रयोग हैं। वहीं दूसरी ओर भोपाल से भाजपा की सांसद और फायरब्रांड नेता साध्वी प्रज्ञा हिंदुत्व की तुलना बोको हराम और आईएसआईएस से होने पर कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला । साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि देश में आईएसआईएस, बोको हराम को लाने का काम कांग्रेस ने किया है। साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि कांग्रेस आतंकियों की समर्थक है और संरक्षण देती है, कांग्रेस को उसी की भाषा में जवाब देना पड़ेगा।

यूपी चुनाव में भाजपा कांग्रेस-सपा को घेरने की कर रही तैयारी–

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव होने में अब कुछ महीने ही बचे हैं। ऐसे में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने भाजपा को बैठे-बिठाए हिंदुत्व पर बयान देकर मुद्दा थमा दिया है। या कहें सपा और कांग्रेस ने यूपी विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा की सियासी पिच तैयार कर दी है। हिंदू मतों के ध्रुवीकरण का रास्ता पूरी तरह खुल चुका है। कुछ हद तक बीजेपी ने इस ओर कदम बढ़ाए थे, अब सपा और कांग्रेस ने भी इस काम को आसान कर दिया है। बीजेपी की रणनीति स्पष्ट है, जिन्ना को मुस्लिम और पाकिस्तान प्रेम से जोड़ा जा रहा है, हिंदुत्व पर विवादित बयान को हिंदुओं के अपमान से। दोनों ही घटनाओं में एक धर्म को पूरी तरह अपने पक्ष में करने की जुगत है। यहां आपको बता दें कि 31 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के हरदोई जनपद में एक जनसभा को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने मोहम्मद अली जिन्ना का भी जिक्र कर दिया। अखिलेश ने कहा कि सरदार पटेल, महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू और जिन्ना एक ही जगह से पढ़कर आए थे। सभी बैरिस्टर भी बने। उन्होंने हमे आजादी दिलवाई थी। हमारे लिए संघर्ष किया था। इसके बाद भाजपा नेताओं ने समाजवादी पार्टी पर जमकर हमला बोला। ‌ बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काफी समय से अपनी हर रैली में अखिलेश पर हमला करते हुए ‘तालिबानी मानसिकता’ और ‘तुष्टीकरण’ वाली राजनीति का जिक्र कर रहे हैं। बीजेपी इस मुद्दे को जोर-शोर से उठाने वाली है। इस मुद्दे पर गेंद पूरी तरह बीजेपी के पाले में पड़ी है, हिंदुओं का ध्रुवीकरण करने का आसान तरीका मिल चुका है। सियासत के जानकारों का मानना है कि पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव से पहले अब भाजपा को जीतने के लिए ज्यादा जोर लगाने की जरूरत नहीं है। क्योंकि कांग्रेस के सलमान खुर्शीद बीजेपी को संजीवनी देने का काम कर गए हैं। सलमान की किताब का अंश आते ही बीजेपी संगठन ने तैयारी शुरू कर दी है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: