मंगलवार, जनवरी 18Digitalwomen.news

Manipur: Terrorists ambush Army Commander’s convoy. Army Commander, his wife and son dead, 5 security personnel were also killed.

मणिपुर के चुराचांदपुर इलाके में आतंकियों की कायराना हरकत, शनिवार की सुबह असम राइफल्स की 46वीं बटालियन के काफिले पर हमला, कर्नल के परिवार के साथ पाँच सैनिक शहीद

मणिपुर के चुराचांदपुर इलाके में शनिवार को आतंकियों ने कायराना हरकत करते हुए असम राइफल्स की 46वीं बटालियन का काफिले पर हमला कर दिया। इस हमले में कर्नल विप्लव त्रिपाठी के साथ उनकी पत्नी समेत 5 साल के बेटे की भी मौत हो गई। इस दौरान कर्नल विप्लव त्रिपाठी यहाँ कमांडिंग ऑफिसर थे। इस हमले में पांच जवान भी शहीद और कई घायल हुए हैं, जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बता दें की कर्नल विप्लव अपने दादा, एक महान स्वतंत्रता सेनानी से प्रेरणा लेकर, राष्ट्र की सेवा करने के लक्ष्य के साथ भारतीय सेना में शामिल हुए थे। सेना में जाने के लिए उनके पिता जो एक वरिष्ठ पत्रकार हैं और उनकी माँ एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं उन्हें दोनों ने प्रोत्साहित किया।
दरअसल, असम राइफल्स के क्विक एक्शन टीम की टुकड़ी में कमांडिंग अफसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी अपने परिवार के सदस्यों के साथ कैंप में लौट रहे थे। शनिवार सुबह करीब 10 बजे टीम सुंघट इलाके जो कि म्यांमार सीमा के पास है वहाँ से गुजर रही थी, तभी उग्रवादियों ने काफिले को निशाना बनाया। इस हमले के बाद र्पू्वोत्तर के दो प्रतिबंधित उग्रवादी संगठनों ने असम राइफल्स के काफिले पर हमले की जिम्मेदारी ली है और एक साझा बयान जारी कर पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी (पीएलए) और मणिपुर नगा पीपुल्स फ्रंट (एमएनपीएफ)ने कहा है कि उन्होंने ने ही असम रायफल्स के काफिले पर हमला किया था। 

इस घटना पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इसे ‘कायरतापूर्ण’ हमला बताते हुए कहा कि इसके दोषियों को जल्द ही न्याय के कटघरे में लाया जाएगा। रक्षा मंत्री ने ट्वीट किया, मणिपुर के चुराचांदपुर में असम राइफल्स के काफिले पर कायराना हमला बेहद दुखद और निंदनीय है।

देश ने 46वीं असम राइफल्स के सीओ सहित पांच बहादुर सैनिकों और उनके परिवार के दो सदस्यों को खो दिया है। सिंह ने कहा, शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं। दोषियों को जल्द ही न्याय के कटघरे में लाया जाएगा।

वहीं, मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने कहा कि राज्य के सुरक्षा बल और अर्द्धसैनिक बल पहले से ही उग्रवादियों का पता लगाने के लिए काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने ट्विटर पर कहा, हमलावरों को न्याय के कटघरे में लाया जाएगा।

Leave a Reply

%d bloggers like this: