रविवार, फ़रवरी 5Digitalwomen.news

Madhya Pradesh govt writes to Centre to rename Habibganj railway station after the tribal queen Rani Kamlapati

मध्य प्रदेश सरकार ने हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम रानी कमलापति पर करने के लिए केंद्र सरकार को लिखी चिट्ठी, पीएम मोदी 15 नवंबर को कर सकते हैं नामांकरण

मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने राजधानी भोपाल में स्थित हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम बदलने के लिए केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखी है। प्रस्ताव के मुताबिक, सरकार अब इस स्टेशन का नाम आदिवासी रानी- रानी कमलापति के नाम पर रखेगी। इसके लिए गृह मंत्रालय को चिट्ठी लिखी गई है और बिना किसी देरी के नाम बदलने का अनुरोध किया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिरसा मुंडा की जयंती के लिए 15 नवंबर को भोपाल जाने वाले हैं। वहीं शिवराज सरकार 15 नवंबर को जनजातीय गौरव दिवस मनाने की घोषणा की है और इसके लिए महासम्मेलन का आयोजन भी किया जा रहा है। इसी दौरान कयास लगाए जा रहे हैं कि पीएम मोदी हीं इस रेलवे स्टेशन के नाम बदलने की घोषणा कर सकते हैं।
बता दें की हाल ही में भोपाल में हबीबगंज स्टेशन का पुनर्विकास 100 करोड़ रुपये की लागत से हुआ है।

आखिर कौन हैं रानी कमलापति?
रानी कमलापति 16वीं सदी में गोंड राजवंश की रानी थी। भोपाल में गोंड राजवंश का शासन था और रानी कमलापति ने आक्रांताओं से क्षेत्र की बहादुरी से रक्षा की थी। मध्य प्रदेश सरकार की चिट्ठी में भी रानी कमलापति की बहादुरी का जिक्र किया गया है और कहा गया कि रानी कमलापति ने जीवनभर अत्यंत बहादुरी और वीरता के साथ आक्रमणकारियों का सामना किया था। उनकी स्मृतियों को सहेजने और उनके बलिदान के प्रति कृतज्ञता के लिए राज्य सरकार ने भोपाल के हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम रानी कमलापति के नाम से रखने का निर्णय लिया है

Leave a Reply

%d bloggers like this: