बुधवार, जनवरी 26Digitalwomen.news

Padma Awards 2021: 34 महिलाओं समेत 141 हस्तियों को पद्म पुरस्कारों से किया गया सम्मानित

Padma Awards 2021

भारत सरकार ने 34 महिलाओं समेत 141 लोगों को सोमवार को देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों से सम्मानित किया । राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देश की इन महिला शक्ति को अपने हाथों से सम्मानित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को मरणोपरांत पद्म विभूषण दिया गया। वहीं, ओलंपियन बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु को पद्म भूषण दिया गया, जबकि एक्ट्रेस कंगना रनौत और टीवी सीरियल निर्माता एकता कपूर को पद्मश्री से सम्मानित किया किया। 77 वर्षीय देश की पहली महिला एयर मार्शल डॉ. पद्मा बंदोपाध्याय को 37 साल की इंडियन एयर फोर्स की सर्विस और चिकित्सा के क्षेत्र में बेहतरीन काम के लिए पद्म श्री से सम्मानित किया गया।उन्हें देखकर हर किसी ने तालियां बजाकर उनका अभिवादन किया। अपने करियर में वह भारत की एयरोस्पेस मेडिकल सोसाइटी की फेलो बनने वाली पहली महिला रहीं। वह उत्तरी ध्रुव पर वैज्ञानिक शोध करने वाली पहली भारतीय महिला हैं। वह वर्ष 1978 में रक्षा सेवा स्टाफ कॉलेज पाठ्यक्रम पूरा करने वाली पहली महिला सशस्त्र बल अधिकारी हैं। पद्मा एयर हेडक्वार्टर में डायरेक्टर जनरल मेडिकल सर्विसेज (एयर) थीं। 2002 में, वह एयर वाइस मार्शल (टू-स्टार रैंक) में पदोन्नत होने वाली पहली महिला बनीं।साल 2020 के लिए जिन 7 लोगों को पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया, उनमें सार्वजनिक मामलों के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री जार्ज फर्नांडीज (मरणोपरांत), पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (दोनों को मरणोपरांत), माॅरीशस के पूर्व राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री अनिरुद्ध जगन्नाथ (मरणोपरांत), कला के लिए उत्तर प्रदेश के पंडित छन्नूलाल मिश्र, खेल के लिए मणिपुर की मैरी काॅम और अध्यात्म के लिए कर्नाटक के उडुपी स्थित पेजावर मठ के श्री विश्वेशतीर्थ स्वामी (मरणोपरांत) शामिल हैं।स्पोर्ट्स के क्षेत्र में बैडमिंटन प्लेयर पीवी सिंधू को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया। वहीं, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने हाॅकी खिलाड़ी रानी रामपाल को खेल के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए पद्म श्री पुरस्कार 2020 से सम्मानित किया।हर साल गणतंत्र दिवस के अवसर पर पद्म पुरस्कारों की घोषणा की जाती है। मार्च-अप्रैल में ये पुरस्कार राष्ट्रपति प्रदान करते है। हालांकि, कोरोना के चलते इस बार ये पुरस्कार नहीं दिए जा सके थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: