गुरूवार, मई 19Digitalwomen.news

अद्भुत छटा बिखेरने के लिए तैयार अयोध्या, 9 लाख दियों की ज्योति से बनेगा विश्व रिकॉर्ड

Deepotsav at Ayodhya set to be grandest

भगवान प्रभु श्रीराम की नगरी अयोध्या में आज रात अलग है। एक ऐसी रात जो दीपावली के उत्सव के साथ करोड़ों लोगों की आस्था, विश्व रिकॉर्ड और एक संदेश भी देने के लिए व्याकुल है । ‌राम जन्मभूमि अयोध्या सुबह से ही अपनी अद्भुत छटा बिखेर रही है। समूचे शहर को ‘दुल्हन’ की तरह सजाया गया है। आज रात अयोध्या नगरी में ‘त्रेतायुग’ जैसा नजारा देखने को मिलेगा, दीप्ति, प्रकाश, चमक और झलक से
आकाश भी जगमगा उठेगा। देश-विदेश से लाखों श्रद्धालु इस यादगार लम्हों के साक्षी बनने के लिए रामनगरी पहुंच चुके हैं। अयोध्या बेकरार है विश्व भर में एक और नया ‘कीर्तिमान’ बनाने को । देश ही नहीं बल्कि विश्व के तमाम न्यूज चैनलों के अयोध्या नगरी में हर एंगल से ‘कैमरे’ तन गए हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कई दिनों से इस दीपोत्सव कार्यक्रम के लिए स्वयं निगरानी कर रहे हैं। बता दें कि अयोध्या 5वें दीपोत्सव पर एक और रिकॉर्ड बनाने के लिए तैयार है। बुधवार शाम अयोध्या में 12 लाख दीये जलाने का लक्ष्य है। जिसमें 32 सरयू के घाटों (राम की पैड़ी) 9 लाख और राम जन्मभूमि परिसर में 51,000 दीपक जलेंगे, अयोध्या के प्राचीन मंदिरों और स्थानों पर 3 लाख से अधिक दीपक जलाए जाएंगे। इसके अलावा अयोध्या की 14 कोसी परिक्रमा के भीतर लगभग सभी पौराणिक स्थानों, कुण्डों, मंदिरों पर दीपक जलेंगे। यही नहीं अयोध्या से इतर बस्ती जनपद के मखोड़ा धाम सहित 84 कोसी परिक्रमा के भीतर आने वाले कई स्थानों पर दीप जलेंगे। मखौड़ा धाम वही स्थान है यहां महाराज दशरथ ने पुत्रेष्ट यज्ञ कराया था। जिसके बाद राम, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्न का महाराज दशरथ के घर जन्म हुआ था। दीपकों की छटा देखने लायक होगी। इस अवसर को यादगार बनाने के लिए 12 हजार वॉलंटियर तैनात हैं। इन्होंने दीप से रामायण कालीन प्रसंग सजाए हैं।

साल 2017 में योगी सरकार ने अयोध्या में शुरू की थी दिये जलाने की परंपरा—-

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम ने गिनती शुरू कर दी है। अयोध्या में योगी सरकार ने 12 लाख दीये जलाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का लक्ष्य रखा है। आज सुबह डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने अयोध्या में भगवान राम की शोभायात्रा को रवाना किया। शाम को सरयू तट पर भगवान राम और सीता की झांकी पहुंचने पर आरती की जाएगी। इस मौके पर राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत कई मंत्री और गणमान्य लोग उपस्थित रहेंगे। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी हैं। राम की पैड़ी पर आयोजित होने वाला लेजर शो आकर्षण का केंद्र है। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी की सरकार बनने के साथ ही 2017 में अयोध्या राम की पैड़ी पर दीपोत्सव कार्यक्रम की शुरुआत हुई थी। सबसे पहले लगभग 1,80, 000 दीपक जलाए गए थे। इसी तरह 2018 में 3,01,152, फिर 2019 में 5,50,000, फिर 2020 में 5,51000, और अब इस साल ( 2021) में योगी सरकार 12 लाख दिये जलाने जा रही है। बता दें कि अभी पिछले दिनों लखनऊ दौरे पर आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी प्रदेशवासियों से अयोध्या में 3 नवंबर को दिये जलाने की अपील की थी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: