बुधवार, फ़रवरी 8Digitalwomen.news

100 करोड़वां टीके पर भाजपा की खुशियों में शामिल हुए थरूर तो पवन खेड़ा ने उठाए सवाल

Let’s give govt credit: Shashi Tharoor 

आज केंद्र सरकार के साथ देश के लिए भी वैक्सीनेशन को लेकर खास दिन है। कोरोना वायरस से निपटने के लिए इसी साल 16 जनवरी को राजधानी दिल्ली के एम्स से पहले टीके की शुरुआत हुई थी। ‌उसके बाद आज यानी 21 अक्टूबर को देश में 100 करोड़ (एक अरब) लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। ‌100 करोड़ कोरोना टीका लगाने में सभी राज्यों का अच्छा योगदान है लेकिन कुछ राज्यों ने कोरोना टीकाकरण के 9 महीनों में बहुत तेजी से टीकाकरण किया है। इसको लेकर भाजपा खेमे में खुशियों का माहौल है। ‌केंद्र सरकार सुबह से ही जश्न मना कर अपनी उपलब्धियां बता रही है ‌‌। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मौके पर देशवासियों को ट्वीट कर बधाई भी दी । ‌‌वहीं विपक्ष के नेता और कांग्रेस के सांसद शशि थरूर ने मोदी सरकार की प्रशंसा की है। दूसरी ओर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा ने केंद्र सरकार पर सवाल उठाए । ‘शशि थरूर ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए कहा कि देश में कोरोना वैक्‍सीन डोज की संख्या 100 करोड़ के पार होने का श्रेय केंद्र सरकार को दिया जाना चाहिए’। वहीं उनकी ही पार्टी के प्रवक्ता पवन खेड़ा ने इस पर कहा कि सरकार को श्रेय देना उन लाखों परिवारों का अपमान है जिन्हें महामारी के दौरान ‘कुप्रबंधन’ के कारण पीड़ा झेलनी पड़ी। थरूर के ट्वीट के जवाब में खेड़ा ने कहा कि ‘सरकार को श्रेय देना उन लाखों परिवारों का अपमान है जिन्हें कोविड महामारी के कुप्रबंधन के कारण पीड़ा झेलनी पड़ी और इसके असर के चलते वो अब भी पीड़ा बर्दाश्त कर रहे हैं’। कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने कहा कि श्रेय लेने से पहले प्रधानमंत्री को इन परिवारों से माफी मांगनी चाहिए, इसका श्रेय वैज्ञानिकों और स्वास्थ्य विभाग को जाता है। बता दें कि देश में 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई थी और आखिरी 20 करोड़ डोज 31 दिन में लगे हैं। दुनिया में सिर्फ चीन ही ऐसा देश है जहां भारत से ज्यादा वैक्सीन लगी हैं। गौरतलब है कि चीन ने 100 करोड़ डोज का आंकड़ा सितंबर में ही पूरा कर लिया था।

पीएम मोदी ने देश के वैज्ञानिकों और स्वास्थ्य विभाग को बधाई दी—

देश ने कोरोना वैक्सीन के 100 करोड़ डोज का आंकड़ा आज सुबह पूरा कर इतिहास रच दिया है। 100 करोड़ डोज पूरे होने के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचे। इस दौरान उन्होंने स्वास्थ्य विभाग से जुड़े कर्मचारियों से बात की। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कुछ दिव्यांगों और अस्पताल के सुरक्षाकर्मी और दूसरे स्टाफ से भी बात की। ‘यहां मोदी के सामने ही बनारस के दिव्यांग अरुण राय को 100 करोड़वां डोज लगाया गया’। इस उपलब्धि पर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी प्रधानमंत्री मोदी, भारत के वैज्ञानिकों, हेल्थ वर्कर्स और आम लोगों को बधाई दी है। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया भी मौजूद थे। उसके बाद स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने भारत में 100 करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार करने के अवसर पर दिल्ली के लाल किला से एक गाना और एक ऑडियो-वीडियो फिल्म लॉन्च किया। मनसुख मांडविया ने कहा कि भारत ने ऐतिहासिक 100 करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार करके एक इतिहास रचा है। 100 करोड़ वैक्सीनेशन आत्मनिर्भर भारत की दिवाली है। अगर हम राज्यवार बात करें तो सबसे ज्यादा टीका लगाने के मामले में उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, गुजरात और मध्य प्रदेश शामिल हैं। हालांकि यहां ज्यादा टीके लगने के पीछे यहां की ज्यादा जनसंख्या 18 वर्ष से अधिक आयु की आबादी भी है। दिल्ली की बात करें तो यहां अब तक 1.28 करोड़ कोरोना टीके (पहली खुराक) लग चुके हैं। वहीं आबादी के लिहाज से सबसे कम वैक्सीनेशन उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में हुआ है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: