शनिवार, दिसम्बर 4Digitalwomen.news

Uttar Pradesh: Priyanka Gandhi detained on way to meet family of Agra man who died in police custody

सफाईकर्मी की मौत के बाद आगरा जा रहीं प्रियंका गांधी फिर हिरासत में, गरमाई राजनीति

Priyanka Gandhi detained on way to meet family of Agra man who died in police custody

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी को 15 दिन के भीतर एक बार फिर से पुलिस ने अपनी हिरासत में ले लिया है। ‌ इससे पहले लखीमपुर खीरी में किसानों की मौत के बाद पुलिस ने उन्हें 3 दिन के लिए हिरासत में लिया था। अब पिछले दिनों आगरा में पुलिस कस्टडी में मृत सफाई कर्मी अरुण वाल्मीकि की मौत पर सियासत शुरू हो गई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पीड़ित परिजनों से मिलने के लिए आगरा जा रही थीं, लेकिन आगरा एक्सप्रेस-वे पर टोल प्लाजा पर उन्हें रोक लिया गया। लखनऊ पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया है। ‘प्रियंका ने कहा कि किसी की मौत पर उनके घर के परिजनों से मुलाकात करने दिए जाने से लॉ आर्डर कैसे बिगड़ सकता है? आप लोगों को खुश करने के लिए क्या मैं लखनऊ के गेस्ट हाउस में आराम से बैठी रहूं। किसी को पुलिस कस्टडी में पीट-पीटकर मार देना कहां का न्याय है? प्रियंका ने कहा कि जहां जाती हूं वहीं रोक देते हैं, क्या रेस्टोरेंट में बैठ जाऊं’। बता दें कि लखनऊ से आगरा जाते वक्त पुलिस ड्यूटी में लगी महिला पुलिसकर्मियों से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मुलाकात की। इस दौरान महिला पुलिसकर्मियों ने प्रियंका गांधी के साथ तस्वीरें और सेल्फी ली। आगरा में थाना जगदीशपुरा में हुई चोरी के बाद पुलिस ने एक सफाई कर्मी को हिरासत में लिया था, मंगलवार रात उसकी मौत हो गई। मौत के बाद वहां जोरदार हंगामा हो रहा है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा मृतक के परिवार से मिलने आगरा जा रही थीं, जहां पुलिस ने उनके काफिले हो आगे बढ़ने की अनुमति नहीं दी । हालांकि इस दौरान कांग्रेसियों ने पुलिस और सरकार के खिलाफ गुस्सा जाहिर किया, जिसके बाद पुलिस ने प्रियंका गांधी को हिरासत में ​ले लिया। इस दौरान आगरा एक्सप्रेस वे पर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने जोरदार हंगामा किया।
वहीं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने सोशल मीडिया पर सवाल उठाते हुए लिखा कि भाजपा सरकार में पुलिस खुद अपराध कर रही है तो फिर अपराध कैसे रुकेगा? आगरा में पहले साठगांठ कर थाने के मालखाने से 25 लाख की चोरी कराई गई। फिर सच छिपाने के लिए गिरफ्तार किए गए सफाईकर्मी की कस्टडी में हत्या स्तब्ध करती है। हत्यारे पुलिस कर्मियों पर सख्त कार्रवाई हो। इसके अलावा पुलिस हिरासत में हुई सफाई कर्मी की मौत के बाद बसपा प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने भी भाजपा सरकार पर निशाना साधा है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: