शुक्रवार, अक्टूबर 22Digitalwomen.news

गृह राज्य मंत्री के इस्तीफे पर अड़ी कांग्रेस, राष्ट्रपति के द्वार पहुंचे राहुल गांधी और प्रियंका

3 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में हिंसा की आग को कांग्रेस अभी भी जलाए रखना चाहती है। इस मामले में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और पिछले काफी समय से उत्तर प्रदेश की राजनीति में सक्रिय प्रियंका गांधी सबसे अधिक मुखर हैं। ‌विपक्षी पार्टियों के दबाव में लखीमपुर खीरी हिंसा में मुख्य आरोपी और गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष को उत्तर प्रदेश पुलिस ने पिछले दिनों जेल भेज दिया हो लेकिन अभी भी कांग्रेस गृह राज्य मंत्री की बर्खास्तगी पर अड़ी हुई है। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव नजदीक है और किसानों की भाजपा सरकार के प्रति नाराजगी को देखते हुए कांग्रेस नेताओं ने मन बना लिया है कि अभी लखीमपुर खीरी हिंसा के मामले को ठंडा न होने दिया जाए। अब कांग्रेसी नेताओं ने दिल्ली में राष्ट्रपति से गुहार लगाई । आज लखीमपुर हिंसा को लेकर कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। 5 सदस्यों का कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रपति भवन पहुंचा। इसमें कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाधी और प्रियंका गांधी भी शामिल हुए। राष्ट्रपति से मुलाकात के दौरान कांग्रेसी नेताओं ने लखीमपुर हिंसा की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने बताया कि हमने राष्ट्रपति को लखीमपुर खीरी हिंसा के संबंध में सभी जानकारी दी। हमने दो मांगे उनके समक्ष रखी है। सिटिंग जज से निष्पक्ष जांच होनी चाहिए और गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र को या तो इस्तीफा दे देना चाहिए या बर्खास्त कर देना चाहिए। प्रतिनिधि मंडल में वरिष्ठ नेता एके एंटनी, गुलाम नबी आजाद, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी और संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल भी रहे हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात के बाहर आकर प्रियंका गांधी ने कहा कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री बर्खास्तगी की मांग कांग्रेस की मांग नहीं है, हमारे साथियों की मांग नहीं है, यह जनता की मांग है और पीड़ित किसान परिवारों की मांग है। वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि लखीमपुर खीरी में पीड़ित परिवारों कि मांग है कि जिसने भी उनके बेटे की हत्या करी उसे सजा मिले और यह भी कहा कि जिस व्यक्ति ने हत्या की उसके पिता देश के गृह राज्य मंत्री हैं। जब तक वह अपने पद पर हैं तब तक न्याय नहीं मिलेगा। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में 3 अक्टूबर को किसानों को जीप से कुचलने का आरोप गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष मिश्र समेत 15 लोगों के खिलाफ हत्या और आपराधिक साजिश का केस दर्ज किया गया था। आशीष मिश्र को एसआईटी ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। लेकिन कांग्रेस गृह राज्यमंत्री की बर्खास्तगी या इस्तीफे की मांग पर अड़ी हुई है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: