शुक्रवार, अक्टूबर 22Digitalwomen.news

लखीमपुर खीरी में किसानों की मौत के बाद गर्माई यूपी की सियासत, प्रियंका हिरासत में

Lakhimpur Kheri Violence Live Updates – On Camera, Priyanka Gandhi vs UP Cops

रविवार को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में किसानों की मौत के बाद राजनीति गर्मा गई है। कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों के नेता हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों से मिलने पहुंच रहे हैं। लखीमपुर खीरी के लिए आधी रात को रवाना हुई कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को सीतापुर में पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पुलिस ने प्रियंका गांधी को सीतापुर के पीएसी के गेस्ट हाउस में रखा है। प्रियंका गांधी ने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है। उन्होंने सरकार से पूछा कि क्या किसानों को इस देश में जिंदा रहने का अधिकार नहीं है। उन्होंने ट्वीट किया कि भाजपा देश के किसानों से कितनी नफ़रत करती है? उन्हें जीने का हक नहीं है? यदि वे आवाज उठाएंगे तो उन्हें गोली मार दोगे, गाड़ी चढ़ाकर रौंद दोगे? बहुत हो चुका। ये किसानों का देश है, भाजपा की क्रूर विचारधारा की जागीर नहीं है। किसान सत्याग्रह मजबूत होगा और किसान की आवाज और बुलंद होगी। भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत गाजियाबाद से लखीमपुर के लिए रवाना हो गए। यूपी के लखीमपुर में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष पर किसानों पर गाड़ी चढ़ाने का आरोप है। इस घटना में 8 लोगों की मौत हुई है। प्रशासन के मुताबिक, इनमें से 2 की मौत कुचलकर और 4 की गाड़ी पलटने से हुई है। इसके बाद गुस्साए किसानों ने मंत्री के बेटे की गाड़ी समेत दो गाड़ियों में आग लगा दी। अजय मिश्र का कहना है कि किसानों के हमले में उनके ड्राइवर की मौत हो गई है। कांग्रेस के मुताबिक, प्रियंका गांधी देर रात 10 बजे के आसपास लखनऊ पहुंचीं। यहां से प्रियंका सीधे अपने लखनऊ स्थित कौल आवास पहुंचीं। दावा है कि यहां पुलिस ने उन्हें नजरबंद कर दिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्षी नेताओं के लखीमपुर खीरी जाने पर रोक लगा दी है। केवल राकेश टिकैत को जाने की इजाजत दी गई है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: