रविवार, फ़रवरी 5Digitalwomen.news

नितिन पटेल की नाराजगी की गूंज हाईकमान तक पहुंची, भावी सीएम भूपेंद्र पटेल पहुंचे मनाने

आज बात होगी गुजरात में नए नेतृत्व और नाराजगी को लेकर। यह स्वभाविक है कि नए निजाम को पुराने कद्दावर नेता आसानी से ‘स्वीकार’ नहीं कर पाते हैं। गुजरात में भी आज बहुत कुछ वैसा ही देखने को मिला जो करीब 2 महीने 10 दिन पहले यानी 3 जुलाई को देहरादून के भाजपा मुख्यालय में विधायक दल की बैठक में दिखाई दिया था । उस समय तीरथ सिंह रावत को मुख्यमंत्री के पद से हटाकर जब पुष्कर सिंह धामी को राज्य की कमान सौंपी गई तो यहां भी मुख्यमंत्री पद के दावेदार रहे कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज भी ‘नाराज’ हो गए थे। ‘सतपाल की नाराजगी के चर्चे भी दिल्ली हाईकमान तक पहुंच गए। ‌फिर 4 जुलाई को शाम करीब 5 बजे होने वाले शपथ ग्रहण समारोह से पहले सुबह करीब 10 बजे पुष्कर सिंह धामी कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज की नाराजगी दूर करने उनके आवास पर पहुंचे थे, धामी ने महाराज से आशीर्वाद लेकर उनकी नाराजगी दूर की’।

उसके बाद सतपाल महाराज शाम को पुष्कर सिंह धामी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए। ऐसा ही कुछ गुजरात की राजधानी गांधीनगर के भाजपा मुख्यालय में भी देखने को मिला। ‘रविवार शाम करीब 4 बजे जब विधायक दल की बैठक में नए सीएम का एलान हो रहा था तब बड़ी उम्मीद और बुलंद इरादे के साथ उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल आगे बैठे थे। लेकिन पीछे की पंक्ति में बैठे भूपेंद्र भाई पटेल के नाम का जब एलान हुआ तब नितिन पटेल की उम्मीदों पर पानी फिर गया। भाजपा हाईकमान ने सबको चौंकाते हुए भूपेंद्र पटेल को नया मुख्यमंत्री बना दिया गया’। उसके बाद उनके चेहरे पर जो रंगत थी वह ‘उड़’ गई, और कुछ देर बाद वह वहां से एक कार्यक्रम में मेहसाणा के लिए निकल गए। यहां पर एक कार्यक्रम के दौरान अपने कार्यकर्ताओं और समर्थकों को संबोधित करते हुए उनका ‘दर्द’ भी छलक आया। ‘रविवार शाम को एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि मैं 30 सालों से कार्यकर्ताओं के दिलों में हूं, मुझे कोई पार्टी से नहीं निकाल सकता, नितिन पटेल ने कहा कि तमाम समाचार लगातार मेरा नाम चला रहे थे, लग रहा था मेरा नाम सबसे आगे है, इनका बस चले तो किसी को भी सीएम बना दें’। शाम को नितिन पटेल कार्यक्रम के बाद अहमदाबाद लौट आए।

नितिन पटेल की नाराजगी भाजपा हाईकमान के पास पहुंची, भूपेंद्र पटेल पहुंचे मनाने:

नितिन पटेल की नाराजगी की गूंज दिल्ली आलाकमान तक भी पहुंच गई’। पीएम मोदी और अमित शाह ने नितिन पटेल की नाराजगी दूर करने के लिए गुजरात के भावी मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल को आज सुबह नितिन पटेल के घर भेज दिया। बताया जा रहा है नए मुख्यमंत्री भूपेंद्र ने नितिन से मिलकर उनसे ‘आशीर्वाद’ भी लिया है। वहीं नितिन पटेल ने अपनी नाराजगी को लेकर फिलहाल इनकार किया । उन्होंने कहा कि भूपेंद्र पटेल मेरे पुराने दोस्त हैं, मैं उन्हें बधाई देता हूं, उन्हें सीएम के रूप में शपथ लेते देखकर हमें खुशी होगी, जरूरत पड़ने पर उन्होंने मेरा मार्गदर्शन भी मांगा है’ । नितिन ने साफ कर दिया कि उन्हें पार्टी के इस निर्णय से कोई ‘असंतोष’ नहीं है और वह भूपेंद्र पटेल के साथ खड़े हैं। दूसरी ओर भूपेंद्र भाई पटेल मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने की तैयारी कर रहे हैं। यह शपथ ग्रहण समारोह दोपहर ढाई बजे आयोजित होगा। ‌भाजपा हाईकमान इस शपथ समारोह को पार्टी के अंदर एकजुटता लाने में भी जुटा है। आपको बता दें कि समारोह में गृहमंत्री अमित शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, कर्नाटक के सीएम बसावराज बोम्माई, गोवा के सीएम प्रमोद सावंत, असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा भी शामिल होंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: