बुधवार, जनवरी 26Digitalwomen.news

सीएम धामी से मुलाकात के बाद चारों धामों के पुरोहितों ने दो साल से जारी धरना किया स्थगित

उत्तराखंड में पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, तीरथ सिंह रावत से लेकर धामी सरकार के लिए सिरदर्द बना चार धाम पुरोहितों का धरना प्रदर्शन समाप्त हो गया है। इसी के साथ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को भी बड़ी राहत मिली है। हालांकि पुरोहितों ने अपना धरना फिलहाल 30 अक्टूबर तक स्थगित किया है। बता दें कि त्रिवेंद्र सरकार ने करीब 2 साल पहले चार धाम मैं देवस्थानम बोर्ड का गठन किया था। त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस फैसले के विरोध में तभी से चारों धामों केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के तीर्थ पुरोहित आंदोलन कर रहे थे। शनिवार को देवस्थानम बोर्ड और चार धाम यात्रा को लेकर चारों धामों की पुरोहितों ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से देहरादून में उनके आवास पर मुलाकात की। मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद चारों धामों में देवस्थानम बोर्ड के विरोध में चल रहा धरना स्थगित कर दिया। सीएम धामी ने कहा कि उत्तराखंड के चारधाम देश-दुनिया के लिए आस्था के प्रमुख केंद्र हैं। सरकार का काम मंदिरों में अवस्थापना विकास को सुदृढ़ बनाना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि चारधाम यात्रा जल्द शुरू हो इसके लिए राज्य सरकार द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। बैठक के बाद गंगोत्री मंदिर समिति के अध्यक्ष एवं चारधाम महापंचायत समिति के संयोजक सुरेश सेमवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री ने हमें आमंत्रित किया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो हाई पावर कमेटी बनाई गई है, उसमें समिति की ओर से आठ लोगों को मेंबर बनाया जाएगा। जो रिपोर्ट होगी, उसके आधार पर आगे उचित समाधान निकाला जाएगा।

Leave a Reply

%d bloggers like this: