रविवार, फ़रवरी 5Digitalwomen.news

नए समीकरणों के साथ भाजपा ने पांच राज्यों में उतारे ‘मिशन-22 के चुनावी सिपहसालार’, यूपी-उत्तराखंड पर फोकस

Uttarakhand: BJP Mission 2022

आज भाजपा हाईकमान ने छह महीनों के अंदर होने वाले पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के लिए कई फैसले लिए। इसी के साथ ‘मिशन 22‘ की तैयारियों को लेकर भाजपा ‘चुनावी मोड’ में आ गई है। ‘पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का सबसे अधिक ‘फोकस’ उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड विधानसभा चुनाव को लेकर देखा गया’। इन पांचों राज्यों में आलाकमान ने अगले साल विधान सभा चुनाव के प्रभारी और सह प्रभारियों की नियुक्ति भी कर दी। ‘विधानसभा चुनाव को देखते हुए राज्यों में बीजेपी ने नई चुनाव टीम में जातीय समीकरण का दांव खेला है’ । बात शुरू करते हैं उत्तराखंड से। इस राज्य में तीन साल से राज्यपाल के पद पर काबिज बेबी रानी मौर्य का अचानक पार्टी ने ‘इस्तीफा’ ले लिया।

Uttarakhand Governor Baby Rani Maurya Resigns

‘दलित समुदाय से आने वाली बेबी रानी मौर्य को अब यूपी में बड़ी जिम्मेदारी के साथ विधानसभा चुनाव भी लड़ाने की अटकलें चल रहीं हैं, मौर्य दो दिन पहले नई दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलीं थीं, तभी से उनके इस्तीफे की अटकलें लगाई जा रहीं थी’ । बेबी रानी मौर्य के इस्तीफा देने के बाद उत्तराखंड में राज्यपाल का पद भी खाली हो गया है। इसके साथ पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उत्तराखंड में चुनाव प्रभारी और दो सह प्रभारियों को भी नियुक्त कर दिया है। ‌ केंद्रीय संसदीय कार्य और कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी को उत्तराखंड में चुनाव प्रभारी बनाया गया है। साथ में राष्ट्रीय प्रवक्ता सह प्रभारी लॉकेट चटर्जी व आरपी सिंह को जिम्मेदारी दी गई है। बता दें कि प्रह्लाद जोशी केंद्र सरकार में कोयला और संसदीय कार्य मंत्रालय के मंत्री के रूप में काम कर रहे हैं। वो कर्नाटक की धारवाड़ लोकसभा सीट से सांसद हैं। वहीं सह प्रभारी बनीं लॉकेट चटर्जी पश्चिम बंगाल की हुगली सीट से लोकसभा सांसद हैं। चटर्जी फिलहाल भाजपा की राष्ट्रीय महासचिव हैं। ऐसे ही दूसरे सह प्रभारी सरदार आरपी सिंह दिल्ली से है और वह राजिंदर नगर सीट के विधायक रहे हैं। आरपी सिंह फिलहाल भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता के रूप में भी काम कर रहे हैं।

यूपी में भाजपा ने जातीय समीकरण के हिसाब से बनाए गए प्रभारी और सह प्रभारी :

पार्टी हाईकमान ने उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव को देखते हुए जाति समीकरण पर पूरा ध्यान दिया है। भाजपा केंद्रीय नेतृत्व ने यूपी की चुनाव कमान केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को सौंपी है। धर्मेंद्र प्रधान के अलावा अनुराग सिंह ठाकुर, अर्जुनराम मेघवाल, सरोज पांडे, शोभा करंदलाजे, कैप्‍टन अभिमन्‍यु, अन्‍नपूर्णा देवी और विवेक ठाकुर को उत्तर प्रदेश चुनाव में सह प्रभारी बनाया गया है। राज्य में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों को राज्‍य की योगी आदित्‍यनाथ के लिए कठिन चुनौती माना जा रहा, जिसे दूर करने की कोशिश में दिल्‍ली का शीर्ष नेतृत्‍व जुटा हुआ है । प्रदेश में सत्‍तारूढ़ बीजेपी को इन चुनावों में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी से कड़ा मुकाबला मिल सकता है। मालूम हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसी महीने 14 सितंबर को अलीगढ़ से विधानसभा चुनाव अभियान की शुरुआत कर रहे हैं। वहीं पंजाब चुनाव के लिए केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, मणिपुर चुनाव के लिए केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव और गोवा चुनाव के लिए महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस चुनाव प्रभारी बनाए गए हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: