शुक्रवार, अगस्त 12Digitalwomen.news

धामी के गढ़ में विपक्ष: कांग्रेस ने परिवर्तन यात्रा का किया आगाज, लंबे अरसे बाद हरीश-प्रीतम-गोदियाल एक मंच पर

पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के टकराव में फंसे रहे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत लंबे इंतजार के बाद उत्तराखंड की सक्रिय सियासत में शुक्रवार को सड़क पर उतरे। कुछ महीनों से हरीश रावत पंजाब प्रभारी के तौर पर कैप्टन और सिद्धू के बीच लगातार जारी विवादों में घिरे रहे। ‌गुरुवार को वह चंडीगढ़ से अपने गृह राज्य लौटे हैं। ‌शुक्रवार को उन्होंने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के विधानसभा क्षेत्र ‘खटीमा’ में सड़क पर उतर कर सत्तारूढ़ भाजपा सरकार के खिलाफ ‘गरजे’ । इस दौरान हरीश रावत ने अपने ऊपर ‘एसिड अटैक’ की बात कहकर हलचल भी मचा दी। सत्तारूढ़ भाजपा के खिलाफ माहौल बनाने के लिए राज्य कांग्रेस ने आज से उत्तराखंड में परिवर्तन यात्रा शुरू की । ‘इस परिवर्तन यात्रा में एक और खास बात देखने को मिली की काफी लंबे अरसे बाद राज्य कांग्रेस के शीर्ष नेता हरीश रावत, प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल और नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह एक मंच पर दिखाई दिए’। परिर्वतन यात्रा की शुरुआत उत्तराखंड आंदोलन के शहीदों को नमन कर किया गया। बाद में शहर के रामलीला मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेसी नेताओं ने राज्य की भाजपा सरकार पर एक के बाद एक कई आरोपों की बौछार लगा दी । ‘पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि देश में एक करोड़ वैकेंसी है और प्रदेश में 23 हजार पद रिक्त है, बेरोजगार युवा संघर्ष कर रहा है। कांग्रेस सरकार आने पर रिक्त पद भरने, बेरोजगार भत्ता देने, महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मजबूती प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि महंगाई से गरीब परिवार झुलस गया है, आय बढ़ नहीं रही है आमदनी घटती जा रही है। हरीश रावत ने कहा कि इसका हिसाब सरकार से आगमी चुनाव में जनता को लेना होगा’। वहीं ‘कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि साढ़े चार साल पहले भाजपा ने अच्छे दिन आने का सपना दिखाया था। पर अच्छे दिन सिर्फ सपनों में या चंद लोगों के ही आए हैं’। उसके बाद नेता प्रतिपक्ष ‘प्रतीम सिंह ने कहा कि उत्तराखंड में भाजपा ने राजनीति की प्रयोगशाला खोल रखी है। एक, दो नहीं तीसरे मुख्यमंत्री की टेस्टिंग चल रही है। भाजपा ने सिर्फ अपना ही विकास किया है’। दूसरी ओर कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा के जवाब में भाजपा ने भी आज ही ‘जन आशीर्वाद यात्रा’ का दूसरा चरण शुरू करके विपक्ष को करारा जवाब दिया।

सीएम धामी ने गणेश गोदियाल के गढ़ श्रीनगर से जन आशीर्वाद यात्रा निकाल कांग्रेस को घेरा-

राज्य में अगले साल शुरू में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बीच शह-मात का खेल शुरू हो गया है। ‘कांग्रेस परिवर्तन यात्रा के माध्यम से एक तरफ बीजेपी की खामियों को जन-जन तक पहुंचाने का एजेंडा बनाया है तो दूसरी तरफ वरिष्ठ नेता एक साथ एक मंच पर एकजुटता का संदेश देना चाहते हैं’। कांग्रेस ने परिवर्तन यात्रा को पहले ऊधमसिंह नगर जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों और नैनीताल जिले के चार विधानसभा क्षेत्रों हल्द्वानी, कालाढूंगी नैनीताल और रामनगर में निकालने की रणनीति बनाई है। परिवर्तन यात्रा के पहले चरण में कांग्रेस ने मुख्यमंत्री धामी को निशाने पर रखा है। इसीलिए सीएम के क्षेत्र खटीमा के साथ पूरे ऊधम सिंह नगर जिले पर कांग्रेस की नजरें टिकी हैं। शुक्रवार को कांग्रेस ने मुख्यमंत्री धामी के विधानसभा क्षेत्र खटीमा से परिवर्तन यात्रा की शुरुआत की तो वहीं पुष्कर सिंह धामी ने भी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल के गढ़ श्रीनगर से जन आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत की। ‘इस मौके पर एक जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री धामी ने श्रीनगर को नगर निगम बनाने की घोषणा कर कांग्रेस को जवाब भी दिया’। आपको बता दें कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल 2022 में जिस श्रीनगर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं, भाजपा ने उसी इलाके से अपनी यात्रा शुरू की । इस मौके पर मुख्यमंत्री ने बस अड्डा श्रीनगर में पार्किंग का शिलान्यास और विशलड पम्पिंग पेयजल योजना व ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण भी किया। हालांकि मोदी कैबिनेट में केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट पिछले दिनों सूबे में पहले चरण की जन आशीर्वाद यात्रा निकाल चुके हैं। लेकिन अब मुख्यमंत्री धामी ने इस यात्रा के सहारे लोगों के घर-घर जाने की योजना बनाई है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: