सामग्री पर जाएं

Modi Cabinet approves FRP of Rs 290 per quintal for sugarcane farmers

गन्ना किसानों को केंद्र सरकार ने दी सौगात, एफआरपी मूल्य को बढ़ाकर 290 रुपये प्रति क्विंटल किया

केंद्र सरकार ने गन्ना किसानों के हित में एक बड़ा फैसला लिया है, जिसके तहत सरकार ने फेयर एंड रिम्यूनरेटिव प्राइस यानी एफआरपी को बढ़ाकर 290 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया है।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने इसकी जानकारी देते हुए यह बताया कि आज कैबिनेट बैठक में गन्ने पर दिए जाने वाले फेयर एंड रिम्यूनरेटिव प्राइस FRP को बढ़ाकर 290 रुपये प्रति क्विंटल करने का फैसला हुआ है, ये 10 फीसदी रिकवरी पर आधारित होगा। उन्होंने कहा कि अगर किसी किसान की रिकवरी 9.5 फीसदी से कम होती है तो उन्हें 275.50 रुपये प्रति क्विंटल मिलेंगे।

बता दें हर साल गन्ना पेराई सत्र शुरू होने से पहले केंद्र सरकार एफआरपी की घोषणा करती है। इससे पहले गन्ने का एफआरपी 285 रुपये प्रति क्विंटल था यानी कि इसबार पांच रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी हुई है। मिलों को यह न्यूनतम मूल्य गन्ना उत्पादकों को देना होता है।

जानें क्या है एफआरपी:
एफआरपी वह न्यूनतम मूल्य है, जिस पर चीनी मिलों को किसानों से गन्ना खरीदना होता है। कमीशन ऑफ एग्रीकल्चरल कॉस्ट एंड प्राइसेज (सीएसीपी) हर साल एफआरपी की सिफारिश सरकार से करता है। सीएसीपी गन्ना सहित प्रमुख कृषि उत्पादों की कीमतों के बारे में सरकार को अपनी सिफारिश भेजती है। उस पर विचार करने के बाद सरकार उसे लागू करती है।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: