शुक्रवार, सितम्बर 30Digitalwomen.news

Indian Tiger’s Roar – Congratulations Neeraj Chopra for winning Gold at Olympics

Congratulations Neeraj Chopra for winning Gold at Olympics

आज टोक्यो में भारत के लिए सोने का दिन रहा।


ओलंपिक के 16वें दिन आखिरकार भारतीय खिलाड़ी नीरज चोपड़ा ने पूरे देश को खुश कर दिया। नीरज के जैवलिन थ्रोअर में गोल्ड मेडल जीतने पर पूरा देश झूम उठा। आखिरी उम्मीद नीरज ही बचे थे जिनसे देशवासी गोल्ड की उम्मीद लगाए बैठे थे। उन्होंने भी एक देशवासियों को निराश नहीं किया और शानदार खेल दिखाते हुए टोक्यो में देश को सोना दिला दिया। ‌‌
जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने फाइनल में 87.58 मीटर का थ्रो किया और सीधे गोल्ड पर निशाना साधा। नीरज ने पहले अटैम्प्ट में 87.03 मीटर और दूसरे अटैम्प्ट में 87.58 मीटर दूर भाला फेंका। तीसरे अटैम्प्ट में उन्होंने 76.79 मीटर, चौथे और 5वें में फाउल और छठे अटैम्प्ट में फाउल थ्रो किया। जैसे ही देशवासियों को भारत के गोल्ड जीतने का समाचार मिला लोग खुशियों से झूम उठे। इससे पहले टोक्यो ओलिंपिक में भारत ने छठा मेडल जीत लिया है। भारत के स्टार रेसलर बजरंग पूनिया ने फ्री स्टाइल कुश्ती के 65 किलोग्राम वर्ग में कजाकिस्तान के दौलत नियाजबेकोव को 8-0 से हरा दिया। क्वार्टर फाइनल में शानदार शुरुआत करने के बाद बजरंग सेमीफाइनल मुकाबला हार गए थे। बजरंग के पिता ने कहा था कि बेटा आज तक कभी खाली हाथ नहीं लौटा है, वह ब्रॉन्ज जरूर लाएगा। पूरे देश की दुआएं उसके साथ हैं। एक महीना पहले उसके घुटने में चोट लग गई थी, फिर भी वह सेमीफाइनल तक पहुंचा। बजरंग ने पिता की बात को सच कर दिखाया है। भारत ने इसके साथ ही सबसे सफल रहे 2012 लंदन ओलिंपिक के मेडल रिकॉर्ड तोड़ दिया है। गौरतलब है कि लंदन में भारतीय दल ने 6 मेडल जीते थे। बता दें कि नीरज चोपड़ा हरियाणा के पानीपत जिले के रहने वाले हैं। उन्होंने वजन कम करने के लिए एथलेटिक्स जॉइन की थी। जल्द ही वे एज ग्रुप प्रतियोगिताओं में अच्छा परफॉर्म करने लगे और कई टूर्नामेंट में जीत हासिल की। 2016 में उन्होंने इंडियन आर्मी जॉइन की। इस प्रकार टोक्यो ओलंपिक में भारत के पास 7 पदक हो गए हैं जिसमें एक गोल्ड 2 सिल्वर और चार कांस्य पदक हैं। नीरज चोपड़ा को गोल्ड और बजरंग पुनिया को रजत मेडल जीतने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुभकामनाएं दी है। वहीं गोल्फ में भारत की अदिति अशोक ने चौथे स्थान पर रहीं। अदिति सिर्फ एक शॉट के अंतर से मेडल से चूक गई। हालांकि अदिति अशोक ओलंपिक में भारत की ओर से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली गोल्फर बन गई हैं। आखिरी शॉट तक अदिति अशोक मेडल की रेस में बनी हुईं थी। लेकिन किस्मत ने अदिति का साथ नहीं दिया। गोल्फ का गोल्ड मेडल अमेरिका के खाते में गया है। यहां हम आपको बता दें कि रविवार 8 अगस्त को खेलों के महाकुंभ ओलंपिक का समापन होने जा रहा है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: