शुक्रवार, अगस्त 12Digitalwomen.news

रोहिणी के बिगड़े बोल: पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी का लालू यादव की बेटी पर ‘तंज’ से गरमाई बिहार की सियासत

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और भाजपा के राज्यसभा सांसद सुशील मोदी और लालू प्रसाद यादव की बेटी के बीच जारी जुबानी जंग से राज्य की सियासत गरमा गई है । जिसकी धमक दिल्ली तक सुनाई दी। वहीं दोनों के बीच के हुए आरोप-प्रत्यारोप सोशल मीडिया पर भी खूब ट्रेंड हो रहे हैं । तमाम यूजर इस मामले में अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं । मामला राज्य में कोविड-19 की व्यवस्थाओं को लेकर जुड़ा हुआ है। जिसकी शुरुआत बिहार में राष्ट्रीय जनता दल नेता लालू प्रसाद यादव के पुत्र की ओर से की गई थी । बता दें कि तेजस्वी यादव के सरकारी आवास में 50 बेड का कोविड केयर सेंटर शुरू करने को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिख कर मांगी । लेकिन जेडीयू और भाजपा के नेताओं ने तेजस्वी यादव का जवाब देते हुए कहा कि सरकारी आवास में कोविड केयर सेंटर चलाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इसके बाद इस मामले ने तूल पकड़ लिया । बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और भाजपा के राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए अपना सरकारी आवास को कोविड केयर सेंटर के तौर पर इस्तेमाल करने की पेशकश करने वाले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव से सवाल किया कि, उन्होंने राबड़ी देवी के 10 फ्लैट और पूर्व केंद्रीय मंत्री कांति देवी से गिफ्ट में मिले दो मंजिला मकान में अस्पताल क्यों नहीं खोला ? सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा कि तेजस्वी प्रसाद यादव को सरकारी आवास के बजाय अवैध तरीके से पटना में अर्जित दर्जनों मकानों में से किसी को कोविड अस्पताल बनाना चाहिए था, जहां गरीबों का मुफ्त में इलाज होता। पूर्व उपमुख्यमंत्री मोदी ने कहा कि तेजस्वी यादव के परिवार में दो बहनें एमबीबीएस डाक्टर हैं, कोरोना संक्रमण के दौर में उनकी सेवाएं क्यों नहीं ली गईं । भाजपा नेता ने कहा कि यदि राष्ट्रीय जनता दल नेतृत्व में गरीबों की सेवा के लिए तत्परता और गंभीरता होती, तो अस्पताल शुरू करने के लिए पहले सरकार से अनुमति ली जाती और उसके मानकों का पालन किया जाता। सुशील मोदी के इस बयान के बाद लालू प्रसाद यादव की बेटी और तेजस्वी यादव की बहन आपे से बाहर हो गईं । इसके जवाब में लालू की बेटी रोहिणी आचार्य ने जवाब देते हुए कई ट्वीट किए और सुशील मोदी को जमकर खरी खोटी सुनाई । रोहिणी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘आज के बाद मेरा या मेरी बहनों का नाम लिया तो आकर मुंह तोड़ देंगे’। रोहिणी ने आगे लिखा, ‘कान खोल कर सुन ले ये जनता की दी हुई है, जो मेरा भाई जनता के नाम समर्पित कर सेवा करना चाह रहा है, तुम्हारे तरह नहीं कि जनता के पैसे पे अपने ऐश कर रहा है’। जो चोर दरवाजा से हर बार हासिल करता है। हिम्मत है तो जनता द्वारा चुन कर आ। रोहिणी का गुस्सा यहीं नहीं थमा उन्होंने कहा कि ई थेथर है सुधरेगा नहीं, जब तक बिहार की बेटियों से थुराएगा नहीं। सुशील मोदी और लालू प्रसाद यादव की बेटी के बीच हुई अमर्यादित बोल के बाद बिहार की सियासत गर्म है । भाजपा के राज्यसभा सांसद और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को तेजस्वी की बहना लालू की बेटी पर तंज कसना महंगा पड़ गया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: