शनिवार, अगस्त 13Digitalwomen.news

Uttarakhand: COVID19 Virus is a living organism, has a right to live like humans – Trivendra Singh Rawat

पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह ने कोरोना को पहचाना ! बोले- यह एक प्राणी और रंग बदलने में माहिर

दुनिया के कई देश कोरोना महामारी की दूसरी लहर से जूझ रहे हैं । देश में भी इस वायरस ने सब कुछ अस्त-व्यस्त करके रख दिया है । इस महामारी से शहरों से लेकर गांव तक हाहाकार मचा हुआ है । हर दिन सैकड़ों लोगों की जानें जा रही है । देश के 18 राज्यों में कोरोना के चलते टोटल लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लागू हैं। वहीं 14 राज्यों या केंद्र शासित प्रदेशों में आंशिक लॉकडाउन लगा हुआ है। जिसकी वजह से सड़कों और बाजारों में ‘सन्नाटा’ छाया है । इसके साथ अब देश में कोविड-19 की ‘तीसरी लहर’ आने की भी बात कही जा रही है । महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने इसके लिए तैयारी भी शुरू कर दी है। यह वायरस क्या है ? और कब थमेगा, अभी कुछ कहा नहीं जा सकता है, हां भविष्यवाणी आए दिन खूब हो रही है। एक साल से अधिक बीत जाने के बाद भी दुनिया भर के तमाम वैज्ञानिक और एक्सपर्ट कोरोना को पहचान नहीं सके लेकिन गुरुवार को उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस वायरस की ‘सही पहचान’ कर ली है । लेकिन जिस प्रकार से उन्होंने इस वायरस को ‘परिभाषित’ किया, वह सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियों में बना हुआ है । उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कोरोना वायरस के लेकर एक ऐसा बयान दिया जो उनकी ही ‘किरकिरी’ करा गया। राजनीति गलियारों से लेकर सोशल मीडिया पर पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह के बयान के बाद तमाम प्रतिक्रियाओं का दौर शुरू हो गया है । आइए आपको बताते हैं त्रिवेंद्र सिंह ने मीडिया के सामने क्या कहा। उन्होंने कहा कि ‘कोरोना वायरस भी हमारी तरह प्राणी है। जैसे हम जीना चाहते हैं, वैसे ही यह वायरस भी जीना चाहता है और हम हैं कि इस वायरस के पीछे पड़े हुए हैं। इसलिए यह वायरस अपना रूप बदल रहा है, ऐसे में इस वायरस को भी जीने का पूरा अधिकार है’। पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि लोगों से बचने के लिए कोरोना वायरस ‘बहरूपिया’ हो गया हैै। ऐसे में हमें अपनी चाल तेज करते हुए रफ्तार बढ़ानी चाहिए । ताकि कोरोना वायरस को पीछे छोड़ जा सके। पूर्व मुख्यमंत्री के इस बयान के बाद क्या उस नेताओं को मौका मिल गया ।

बयान के बाद कांग्रेस नेताओं ने त्रिवेंद्र सिंह रावत पर उठाए सवाल और कसा तंज—

पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह के बयान के बाद कांग्रेस नेता ने तंज कसते हुए सवाल उठाए हैं। इंडियन यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष ‘श्रीनिवास बीवी ने उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के नेता त्रिवेंद्र सिंह रावत से पूछा है कि अगर कोरोना एक प्राणी है तो इसका आधार कार्ड/राशन कार्ड भी होगा’? वहीं इंडियन यूथ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष केशव चंद यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह का हास्यास्पद बताया। केशव चंद यादव ने कहा कि अगर कोरोना एक प्राणी है तो रावत जी अब बस कोरोना का आधार कार्ड बनना बाकी है । कांग्रेस नेता गौरव पंधी ने कहा कि ऐसे लोगों के बयानों से यह आश्चर्य की बात नहीं होनी चाहिए कि हमारा देश आज दुनिया में सबसे ज्यादा ‘मानवीय त्रासदी’ झेल रहा है। एक ट्विटर यूजर ने पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के बयान पर तंज कसते हुए कहा, ‘इस वायरस जीव को सेंट्रल विस्टा में आश्रय दिया जाना चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री का यह बयान फेसबुक, व्हाट्सएप पर खूब वायरल हो रहा है। लोग आलोचना भी कर रहे हैं। लेकिन त्रिवेंद्र समर्थकों का कहना है कि पूर्व मुख्यमंत्री ने लोगों को कोरोना वायरस से बचने के लिए आगाह किया है। गौरतलब है कि अभी पिछले दिनों त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने का कारण हरिद्वार कुंभ नहीं बताया । पूर्व सीएम रावत ने साफ तौर पर कहा कि उनकी सरकार ‘प्रतीकात्मक कुंभ’ के पक्ष में थी, जिस पर साधु समाज ने भी लिखित में सहमति जताई थी और प्रधानमंत्री तक ने इसे लेकर संतोष जताया था । रावत ने कहा कि इसलिए उन्हें लगता है कि कुंभ संबंधी कारणों से उन्हें पद से नहीं हटाया गया? बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के पास मौजूदा समय में कोई काम नहीं है। सीएम पद से हटाए जाने क बाद अभी तक भाजपा हाईकमान ने उन्हें कोई जिम्मेदारी नहीं दी है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: