शनिवार, अगस्त 13Digitalwomen.news

पाकिस्तान में पहली बार हिंदू युवती सना रामचंद्र बनीं प्रशासनिक सेवा में अफसर

अभी कुछ समय पहले भी कई हिंदू युवती पाकिस्तान में कई बड़ी पोस्ट पर काबिज हुई थी । अब इसी कड़ी में पड़ोसी देश में पहली बार एक हिंदू युवती असिस्टेंट कमिश्नर बनी हैं। उनका नाम सना रामचंद है। उन्हें यह मुकाम हासिल करने के लिए सेंट्रल सुपीरियर सर्विस पास करनी पड़ी। इसके बाद उनका चयन पाकिस्तान प्रशासनिक सेवा (पीएएस) में हुआ। यह पाकिस्तान की सबसे बड़ी प्रशासनिक परीक्षा है। सना पेशे से एमबीबीएस डॉक्टर भी हैं। यहां हम आपको बता दें कि इस परीक्षा में 18,553 कैंडिडेट्स शामिल हुए थे। इनमें 221 पास हुए। अपनी सफलता के बाद सना रामचंद्र ने कहा कि मैं बेहद खुश हूं, लेकिन हैरान नहीं। मुझे बचपन से ही कामयाबी की ललक है और मैं इसकी आदी हो चुकी हूं। मैं अपने स्कूल, कॉलेज की परीक्षा में भी टॉप कर चुकी हूं। सना सिंध प्रांत के शिकारपुर जिले की रहने वाली हैं। उन्होंने सिंध प्रांत के चंदका मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस किया। अभी वे सिंध इंस्टिट्यूट ऑफ यूरोलॉजी एंड ट्रांसपेरेंट से एफसीपीएस की पढ़ाई कर रही हैं। इससे पहले भी पाकिस्तान के सिंध प्रांत में पहली हिंदू महिला पुलिस अफसर बनी है। पुष्पा कोहली प्रांतीय प्रतियोगी परीक्षा पास कर राज्य की पहली हिंदू महिला पुलिस अधिकारी बनी । प्रांत में उन्हें सहायक उपनिरीक्षक के तौर पर नियुक्त किया गया । इसके साथ सुमन पवन बुदानी को दीवानी और न्यायिक मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया था। सुमन सिंध के ग्रामीण इलाके से ताल्लुक रखती हैं, जहां पर गरीबी समेत कई अहम मुद्दे बड़ी चुनौतियां हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: