सोमवार, अक्टूबर 3Digitalwomen.news

उत्तराखंड में केजरीवाल ने ‘मिशन 22’ के लिए रिटायर्ड कर्नल अजय कोठियाल पर लगाया दांव

उत्तराखंड में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी पिछले कई महीनों से राज्य में अपनी सियासी जमीन तलाशने में जुटी हुई है। आप के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एक उत्तराखंड के ऐसे नेता की तलाश में थे जो कि ‘पहाड़ों और युवाओं में लोकप्रिय’ हो । इसी को ध्यान में रखते हुए आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया भी इस ‘मिशन’ में लगे हुए थे । आखिरकार 19 अप्रैल सोमवार को अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी को एक मजबूत चेहरा रिटायर्ड कर्नल अजय कोठियाल का साथ मिल गया है । यानी अब कोठियाल आम आदमी पार्टी के हो गए हैं । कर्नल के आप में शामिल होने पर उत्तराखंड के पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश का माहौल छा गया है ।‌ उत्तराखंड में होने वाले 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर सभी सियासी पार्टियां तैयारियों में जुटी हुई है। सोमवार को यूथ फाउंडेशन के जरिए देश के लिए जांबाज जवानों को तैयार करने वाले रिटायर्ड कर्नल अजय कोठियाल ने आम आदमी पार्टी के साथ अपनी सियासी पारी शुरू कर दी है। हरिद्वार रोड स्थित एक होटल में ‘मिशन उत्तराखंड नवनिर्माण’ कार्यक्रम के तहत कोठियाल आम आदमी पार्टी में शामिल हुए। इस दौरान आप के प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया और प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर के नेतृत्व में आप कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया। यहां हम आपको बता दें कि पिछले कई दिनों से कोठियाल के आम आदमी पार्टी में शामिल होने के लिए अटकलें लगाई जा रही थी। रिटायर्ड कर्नल अजय ने इन अटकलों को विराम देते हुए आम आदमी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली । उसके बाद कोठियाल ने मंच से कहा आज के ही दिन उन्होंने आर्मी ऑफिसर की ट्रेनिंग पास करके फौज में शामिल हुए और एक बेहतरीन पारी खेली जिसमें उनके साहस और पराक्रम को देखते हुए भारतीय सेना भी उनको सलाम करती है। उन्होंने आज उसी दिन फिर एक नई जिम्मेदारी को लेते हुए आप में शामिल होकर, उत्तराखंड नव निर्माण की कसम खाई। उन्होंने कहा आज मेरे लिए बड़ा दिन है सुबह सुबह मैं, मां गंगा में डुबकी लगा कर अपने दिन की शुरुआत करके जब मैं लौट रहा था तो मेरी आंख लगी और मुझे सपनों में साक्षात केदारनाथ के दर्शन हुए। कोठियाल अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत करने पर बहुत ही उत्साहित दिखाई दिए। बता दें कि कर्नल कोठियाल उत्तराखंड में सामाजिक कार्यों को लेकर और युवाओं में लोकप्रिय माने जाते हैं ।

मुख्यमंत्री केजरीवाल को मिला मजबूत पहाड़ी नेता का साथ तब विपक्ष को दिया जवाब—

अभी तक उत्तराखंड में आम आदमी पार्टी पर बाहरी होने का आरोप लगते रहे हैं । जिससे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी चिंतित थे । लेकिन अब ‘पार्टी ने एक मजबूत पहाड़ी नेता को विरोधियों के सामने लाकर खड़ा कर दिया है’ । सोमवार को जब कोठियाल देहरादून में आम आदमी पार्टी की सदस्यता ले रहे थे तब दिल्ली से ‘मुख्यमंत्री केजरीवाल भी डिजिटल माध्यम से जुड़े हुए थे । केजरीवाल ने कर्नल को सच्चा सिपाही बताते हुए उत्तराखंड नवनिर्माण की बात कही’ । उन्होंने कहा कि आज उत्तराखंड में बेरोजगारी, पलायन जैसी बड़ी बड़ी समस्याएं हैं, जिन्हें पिछले 20 सालों से बीजेपी-कांग्रेस अपने भ्रष्टाचार से बदलना नहीं चाहती है। उन्होंने कहा अब कर्नल के आने से आम आदमी पार्टी इनके भ्रष्टाचार को बेनकाब करेगी और उत्तराखंड में बदलाव की नई तस्वीर तैयार करेगी। इस मौके पर केजरीवाल ने कहा कि 20 साल पहले बनाए इस राज्य के लिए कई लोगों ने संघर्ष किया। अपना भविष्य दांव पर लगाया, सिर्फ इस सपने को लेकर की अपना राज्य होगा, अच्छा अस्पताल होगा, अच्छी सड़कें, बिजली, रोजगार मिलेगा, यहां पहाड़ों में खुशहाली आएगी लेकिन आज कोई भी खुशहाल नहीं, पिछले 20 सालों से उत्तराखंड को कुछ नहीं मिला, स्कूल बंद हो रहे, पलायन ने गांव वीरान कर दिया। इसका जिम्मेदार कौन है । सिर्फ बीजेपी और कांग्रेस जिन्होंने 20 साल उत्तराखंड में आपसी सहमति से राज किया। अब आम आदमी पार्टी कोठियाल के सहारे पहाड़ में अपनी सियासत को मजबूत करने में जुट गई है। अब आइए कोठियाल का संक्षिप्त परिचय भी जान लेते हैं। इनका जन्म 26 फरवरी 1968 को टिहरी गढ़वाल के गुरदासपुर गांव में हुआ था। वर्तमान समय में इनका निवास स्थान देहरादून बसंत विहार में है । अजय कोठियाल ने देहरादून के सेंट जोसेफ स्कूल और डीएवी कॉलेज से स्नातक की डिग्री हासिल की है । दो बार के एवरेस्ट विजेता, एवरेस्ट अभियान का नेतृत्व किया, केदारनाथ पुनर्निर्माण में सक्रिय भूूमिका, नंदा देवी राजजात 2014 का संचालन, सेना के कई अभियानों को अंजाम दिया, यूथ फाउंडेशन के जरिए युवाओं को जोड़ा। अब कोठियाल ने आम आदमी पार्टी से अपने सियासी पारी की शुरुआत कर दी है । वैसे यह भी चर्चा है कि पार्टी इन्हें अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान ‘मुख्यमंत्री के चेहरे’ के रूप में भी पेश कर सकती है ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: