मंगलवार, अक्टूबर 4Digitalwomen.news

West Bengal polls: ‘नंदीग्राम’ से निकलेगा बंगाल में सत्ता का रास्ता, भाजपा-टीएमसी की साख भी लगी दांव पर

एक अप्रैल गुरुवार को होने वाले पश्चिम बंगाल विधानसभा के दूसरे चरण के मतदान के लिए आज चुनाव प्रचार खत्म हो गया । प्रचार के आखिरी दिन मंगलवार को भाजपा-तृणमूल कांग्रेस के लिए नंदीग्राम विधानसभा देशभर की सुर्खियों में रहा । भाजपा हाईकमान का भी इस सीट पर शुरू से ही सबसे अधिक फोकस रहा है । दोनों पार्टियों को लग रहा है कि ‘नंदीग्राम से ही बंगाल में सत्ता का रास्ता निकलेगा’ । इस सीट को जीतने के लिए भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच जबरदस्त ‘महासंग्राम’ मचा हुआ है । प्रचार खत्म होने के आखिरी दिन बीजेपी और टीएमसी ताबड़तोड़ रोड शो और जनसभा कर जीत के दावे करते रहे। गृहमंत्री अमित शाह ने नंदीग्राम से भाजपा उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी के साथ रोड शो किया, तो दूसरी ओर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी यहां के व्हीलचेयर पर बैठकर पदयात्रा कर लोगों से भाजपा को हराने और तृणमूल कांग्रेस को जिताने की अपील की । गृहमंत्री अमित शाह सुबह से ही यहां अपने भारी लाव-लश्कर के साथ पहुंच गए । अमित शाह नंदीग्राम में पूरे दिन रथ पर सवार होकर रोड शो करते रहे, बीच-बीच में शाह ने जनसभाओं को भी संबोधित किया । ‘गृहमंत्री ने साफ कहा कि नंदीग्राम सीट से ममता बनर्जी को हराना चाहते हैं’ । अमित शाह ने कहा कि सबका मूड है कि परिवर्तन तो पूरे बंगाल में करना है, मगर पूरे बंगाल में परिवर्तन करने का एक सरल रास्ता है नंदीग्राम में ममता दीदी को हरा दो, इससे पूरे बंगाल में परिवर्तन अपने आप हो जाएगा। दूसरी ओर ममता बनर्जी भी यहां तीन दिनों से डेरा डाले हुईं हैं । उन्होंने भी आज व्हीलचेयर पर बैठकर कई जनसभाओं को संबोधित किया । ममता ने कहा कि मैं नंदीग्राम में आज इसलिए खड़ी हूं, क्योंकि मुझे यहां के भाई-बहन और मां का आशीर्वाद चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा वोट के लिए पैसा देगी, तो रख लेना, क्योंकि यह आपका पैसा है जो भाजपा ने चोरी किया है, लेकिन वोट भाजपा को नहीं देना। उन्होंने कहा कि भाजपा बाहर से बंगाल में गुंडे लाकर हिंसा करा रही है। इस बार भाजपा को बंगाल से बोल्ड आउट कर देना है। बता दें कि नंदीग्राम से ममता बनर्जी इस बार विधान सभा का चुनाव लड़ रहीं हैं । वहीं भाजपा से इसी पर शुभेंदु अधिकारी को उतारा है । पश्चिम बंगाल के दूसरे चरण में विधानसभा की 30 सीटों पर गुरुवार को वोटिंग होने जा रही है। इसमें 171 प्रत्याशियों की किस्मत दांव है, जिनमें 19 महिलाएं शामिल हैं। बंगाल में कुल आठ चरणों में चुनाव होने हैं। भारतीय जनता पार्टी और राज्य की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस ने दूसरे चरण के दौरान बंगाल की सभी 30 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं।

बंगाल में दूसरे चरण के चुनाव में ममता और शुभेंदु अधिकारी की राजनीति भी होगी तय–

पश्चिम बंगाल विधानसभा के दूसरे चरण में ममता बनर्जी और शुभेंदु अधिकारी की राजनीति भी तय होगी । इसीलिए दोनों प्रत्याशी अपनी-अपनी जीत के लिए पूरा जोर लगाए हुए हैं । नंदीग्राम सीट बंगाल की सबसे हाई प्रोफाइल सीट मानी जा रही है। मालूम हो कि 5 वर्ष पहले साल 2016 में हुए विधानसभा चुनाव में शुभेंदु अधिकारी ने नंदीग्राम से सीपीआई के उम्‍मीदवार अब्‍दुल कबीर शेख को 81 हजार से भी ज्‍यादा वोटो से हरा कर रिकॉर्ड जीत दर्ज की थी। शुभेंदु इस बार भी रिकॉर्ड जीत दर्ज करने का दावा कर रहे हैं। हालांकि इस सीट पर मुस्लिम वोटों की संख्‍या भी 50 हजार से ज्‍यादा है। ऐसे में शुभेंदु के लिए इस बार जीत इतनी आसान नहीं होगी । टीएमसी छोड़कर बीजेपी में आए अधिकारी की साख भी दांव पर है, क्योंकि उनके गढ़ में चुनाव होने हैं। नंदीग्राम सीट जीतने के लिए ममता कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती हैं। ममता ने यहां ताबड़तोड़ चुनावी रैलियां और रोड शो किए। दूसरी ओर चुनाव प्रचार के अंतिम दिन बीजेपी प्रत्याशी शुभेंदु अधिकारी के समर्थन में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और पिछले दिनोंं बीजेपी में शामिल होने वाले दिग्गज फिल्म अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती ने भी नंदीग्राम में रोड शो किया । बता दें कि एक समय मिथुन चक्रवर्ती तृणमूल कांग्रेस केेे साथ जुड़ेेेे हुए थे । आज मिथुन ममता बनर्जी के खिलाफ प्रचार करते नजर आए । बंगाल चुनाव में दूसरे चरण में 4 जिलों की 30 विधानसभा सीटों पर एक अप्रैल को मतदान होगा। इनमें 9 सीट पूर्वी मेदिनीपुर जिले की हैं जबकि बांकुरा की 8 सीटों, पश्चिमी मेदिनीपुर की 9 सीटों और साउथ 24 परगना की 4 सीटों पर मतदान होने हैं । पिछले विधानसभा चुनाव में इस इलाके में ममता की तृणमूल कांग्रेस ने क्लीन स्वीप किया था, लेकिन इस बार समीकरण काफी बदला हुआ है। भाजपा बंगाल के सिंहासन को पाने के लिए सभी सियासी हथकंडे अपनाए हुए हैं । इन क्षेत्रों में मतुवा समुदायों की भी निर्णायक भूमिका है । इस समुदाय को पीएम मोदी से लेकर गृहमंत्री अमित शाह पार्टी ने खूब रिझाने का प्रयास किया है ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: