बुधवार, अक्टूबर 5Digitalwomen.news

Gandhi Peace Prize for Year 2020 is being conferred on Bangabandhu Sheikh Mujibur Rahman

बांग्लादेश के बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान को मिला वर्ष 2020 का गांधी शांति पुरस्कार

गांधी शांति पुरस्कार वर्ष 2020 के लिए बांग्लादेश के बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान को चुना गया है।

प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता वाली समिति ने किया फैसला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली निर्णायक मंडल में भारत के मुख्य न्यायाधीश, लोकसभा में सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी के नेता, लोकसभा के अध्यक्ष ओम बिरला और सामाजिक सेवा संगठन के संस्थापक सुलभ एवं अन्य प्रमुख सदस्य ने सर्वसम्मति से इस वर्ष के गांधी शांति पुरस्कार के लिए बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान के नाम का चयन किया है ।

समिति ने शेख मुजीबुर रहमान के नाम को अहिंसक और अन्य गांधीवादी तरीकों के माध्यम से सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक परिवर्तन के लिए उनके उत्कृष्ट योगदान की मान्यता में चुना है।

नरेंद्र मोदी ने बगबन्धु को मानवाधिकार का बताया चैम्पियन

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि बंगबंधु मानवाधिकारों और स्वतंत्रता संग्राम के चैंपियन थे और वे हम भारतीयों के लिए भी एक रोल मॉडल की तरह हैं।
उन्होंने यह भी कहा कि बंगबंधु की विरासत और प्रेरणा ने दोनों देशों की दोस्ती को अधिक व्यापक और गहन बनाया है। बंगबंधु द्वारा दिखाए गए मार्ग ने पिछले एक दशक में दोनों देशों की साझेदारी, प्रगति और समृद्धि की एक मजबूत नींव रखी है। जैसा कि बांग्लादेश मुजीब बोरशो को मनाता है, भारत बांग्लादेश सरकार और उसके लोगों के साथ संयुक्त रूप से उनकी विरासत को याद करते हुए सम्मानित किया जाता है।

गांधी शांति पुरस्कार बांग्लादेश की आजादी में बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान के अपार और अतुलनीय योगदान को दर्शाता है। साथ ही उनके उस संघर्ष को भी मान्यता प्रदान करता जिसके फलस्वरूप आज बांग्लादेश एक स्थिर राष्ट्र के रूप में अपने आप को स्थापित किये हुए है। आज उन्ही की देन है कि भारत और बांग्लादेश के बीच घनिष्ठ और भ्रातृ संबंधों की नींव रख पाया है और शांति के पथ पर अग्रसर है।

क्या है गांधी शांति पुरस्कार?

गांधी शांति पुरस्कार, 1995 के बाद से भारत सरकार द्वारा महात्मा गांधी की 125 वीं जयंती वर्ष के रूप में मनाया जाने वाला एक वार्षिक पुरस्कार है। पुरस्कार में 1 करोड़ रुपये की राशि, एक प्रशस्ति पत्र, एक पट्टिका एवं एक अति सुंदर पारंपरिक हस्तकला / हथकरघा वस्तु विजेता को भेंट स्वरूप भारत सरकार द्वारा दिया जाता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: