शुक्रवार, अगस्त 19Digitalwomen.news

बीएचयू में विजिटिंग प्रोफेसर के प्रस्ताव की खबरों को नीता अंबानी ने किया खारिज

रिलायंस इंडस्ट्रीज की कार्यकारी निदेशक और रिलायंस फाउंडेशन की अध्यक्ष नीता अंबानी के बीएचयू में विजिटिंग प्रोफेसर बनने की रिपोर्ट को उनके प्रवक्ता ने फर्जी करार दिया है। प्रवक्ता ने बताया है कि नीता अंबानी को बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी की ओर से विजिटिंग प्रोफेसर बनाने का कोई प्रस्ताव नहीं मिला है और यह खबरें फर्जी है।
दरअसल खबरें यह आईं थीं कि बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के सामाजिक विज्ञान संकाय की ओर से नीता अंबानी को विजिटिंग प्रोफेसर बनाने का प्रस्ताव भेजा गया है।
नीता अंबानी ने मुंबई विश्वविद्यालय से बीकॉम किया है और उन्हें वर्ष 2014 में रिलायंस इंडस्ट्रीज का कार्यकारी निदेशक बनाया गया। साल 2010 में उन्होंने रिलायंस फाउंडेशन का गठन किया था। माना जा रहा था कि उनकी एक सफल महिला उद्यमी होने की छवि की वजह यह प्रस्ताव दिया गया था, और अनीता अंबानी ने इसे मौखिक तौर पर स्वीकार भी किया था।जिसके बाद विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने इसका विरोध शुरू कर दिया।छात्रों ने कुलपति पर बीएचयू को उद्योगपतियों के इशारे पर चलाने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की थी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: