बुधवार, अक्टूबर 5Digitalwomen.news

देश के 10 लाख से अधिक बैंक कर्मचारी और अधिकारी हड़ताल पर:-

जहानाबाद जिले के करीब 500 कर्मचारी और अधिकारी है दों दिनों के हड़ताल पर

कल से देश के करीब 10 लाख कर्मचारी एवं अधिकारी यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक एम्प्लाइज आवाहन पर दो दिनों के हड़ताल पर है, इसी क्रम में जहानाबाद के भी करीब 500 अधिकारी एवं कर्मचारी हड़ताल पर है, यह हड़ताल सरकार के जनविरोधी बैंकिंग एवं आर्थिक नीतियों एवं सार्वजनिक क्षेत्र की बैंको के निजीकरण और विनिवेश के सरकार के फैसलों के विरोध में और आम जनता,किसानों ,लघु बचतकर्ताओं,पेंशनभोगियों,छोटे एवं मध्यम आकार के उद्गामियो, व्यपारियों, स्वरोजगारियों, विद्यार्थियों , महिलाओं, पिछड़े वर्गों , बेरोजगारों और कर्मचारियों के रूप में देश के 95% जनता के हितों की रक्षा के लिए है।
इस हड़ताल के बारे में यूनाइटेड फ़ोरम ऑफ बैंक यूनियन के द्वारा बताया गया इस हड़ताल में सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंक है , जिसके चलते जहानाबाद जिले के करीब 93 शाखा , 68 ATM बाधित होंगे एवं दो दिनों में करीब 80 करोड़ का लेन-देन बाधित होगा। सरकार के दमनकारी नीतियों के खिलाफ सभी बैंक अधिकारी एवं कर्मचारी जिला अग्रणी बैंक कार्यालय के समीप इक्कठा हुए एवं सरकार के बैंकिंग नीतियों विरुद्ध नारेबाजी करते हुए जिला अग्रणी बैंक कार्यालय से जुलूस निकाला जो मेन रोड होते समाहरणालय तक आए, एवं समाहरणालय के समीप छोटी सभा को बैंक यूनियन के नेताओं द्वारा संबोधित किया गया। इस हड़ताल का नेतृत्व AIBEA के तरफ से पंजाब नेशनल बैंक एम्प्लाइज यूनियन के उपाध्यक्ष कुमार राजीव रंजन, NCB के तरफ से वीरेंद्र कुमार , ऑफिसर एसोसिएशन के तरफ से शंकर कुमार एवं बाबू आनंद ने संयुक्त रूप से किया,इन लोगो के द्वार संयुक्त रूप से बताया गया सरकार ने बैंक को निजीकरण करने का जो योजना बनाई है उसे जल्द जल्द बापस ले नही तो हमलोग आगे अनिश्चितकालीन हड़ताल तक जाएंगे, इनलोगो ने बताया कि ये दो दिनों का हड़ताल तो सरकार को आगाह करने के लिए है, अगर सरकार इससे भी सरकार नही संभली तो आगे सरकार बहुत बुरा भुगतान भुगतना पड़ेगा। यूनियन के वक्तओं के द्वारा बताया गया कि निजीकरण का सीधा असर आम जनता पर पड़ेगा क्योंकि निजीकरण का मतलब है बैंक ऋण महंगा होना , ग्रमीण जनता से बैंक दूर होना, कृषि ऋण में कमी , जनता की बचत पूंजी पर बड़े कॉरपोरेट घरानों का कब्जा एवं आदि। इस हड़ताल में अग्रणी बैंक प्रबंधक विजय कुमार,PNB लारी के प्रबंधक नरेंद्र कुमार, बैंक ऑफ इंडिया के अनिल कुमार, बैंक ऑफ बड़ोदरा के शांतनु, एवं सभी बैंकों के कर्मचारि एवं अधिकारी शामिल हुए।

Leave a Reply

%d bloggers like this: