सामग्री पर जाएं

Unlock 5.0: बाबा केदारनाथ के लिए तीर्थयात्री 9 अक्टूबर से हेलीकॉप्टर से भर सकेंगे उड़ान

kedarnath yatra by helicopter | chardham yatra by helicopter | kedarnath helicopter
kedarnath yatra by helicopter | chardham yatra by helicopter | kedarnath helicopter

उत्तराखंड धीरे-धीरे अपनी रंगत में आने लगा है ।

शनिवार और रविवार को उत्तराखंड में हजारों की संख्या में पर्यटक पहुंचने से चहल-पहल बढ़ गई ।

मसूरी, देहरादून, हरिद्वार और ऋषिकेश में पर्यटकों और तीर्थयात्रियों के पहुंचने से चहल-पहल देखने को मिली । यहां हम आपको बता दें कि उत्तराखंड की रौनक तब अधिक बढ़ती है जब पर्यटक पहुंचते हैं । पिछले 7 महीनों से देवभूमि वीरान नजर आ रही थी लेकिन अब धीरे-धीरे लोग रफ्तार भरने लगे हैं ।‌ लोगों और पर्यटकों की आवाजाही बढ़ने से उत्तराखंड सरकार भी आगे आई है ।‌ अब उत्तराखंड शासन ने तीर्थयात्रियों को हेलीकॉप्टर से घुमाने का कार्यक्रम बनाया है । जो तीर्थयात्री बाबा केदारनाथ दर्शन करने के लिए जाना चाहते हैं उनके लिए 9 अक्टूबर से हेली सेवा शुरू हो रही है । जिसकी तैयारी त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार ने शुरू कर दी है, हेलीसेवा के लिए ऑनलाइन टिकट बुकिंग प्रारंभ हो गई हैं। कोरोना के चलते अब तक केदारनाथ के लिए हेलीसेवा प्रारंभ नहीं हो पाई थी। राज्य सरकार से अनुमति मिलने के बाद उकाडा ने ऑपरेटर को अब हेलीसेवा प्रारंभ करने की अनुमति प्रदान कर दी है। जानकारी के लिए तीर्थयात्री उत्तराखंड गवर्नमेंट के हेली सर्विस वेबसाइट पर जाकर जानकारी ले सकते हैं । चारधाम के लिए कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट लाने की अनिवार्यता खत्म होने के बाद संख्या बढ़ी है। लोगों की मांग है कि श्रद्धालु संख्या बढ़ाई जाए। बदरीनाथ, केदारनाथ यमुनोत्री और गंगोत्री धाम में इन दिनों एक बार फिर तीर्थ यात्रियों के आने के बाद स्थानीय लोग खुश नजर आ रहे हैं ।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: