रविवार, नवम्बर 28Digitalwomen.news

तेजस्वी यादव ने लालू-राबड़ी काल के लिए जनता से फिर मांगी माफी, कहा-हमें सिर्फ एक मौका दीजिए

 बिहार की राजधानी पटना में आरजेडी कार्यालय में रविवार को राजद का 24वां स्थापना दिवस मनाया गया. इस दौरान तेजस्वी यादव , तेज प्रताप यादव पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ राबड़ी देवी के आवास से आरजेडी ऑफिस साइकिल से पहुंचे और स्थापना दिवस समारोह के आयोजन में शिरकत किया.

वरिष्ठ नेता रहे गायब
इस बीच, एक चौंकाने वाली तस्वीर सामने आई. दरअसल, तेजस्वी यादव के साथ, बिहार आरजेडी चीफ जगदानंद सिंह, प्रधान महासचिव आलोक मेहता समेत कई नेता तो पहुंचे. लेकिन पार्टी के कई वरिष्ठ नेता कार्यक्रम से नदारद रहे. इसमें शिवानंद तिवारी, रामचंद्र पूर्वे और रघुवंश प्रसाद सिंह का नाम प्रमुख रूप से शामिल है.

तेजस्वी ने दी सफाई
बता दें कि, रघुवंश प्रसाद सिंह ने बीते दिनों आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सहित तमाम पदों से इस्तीफा देते हुए अपनी नाराजगी जाहिर की थी. इधर, तेजस्वी यादव ने वरिष्ठ नेताओं के गायब रहने पर सफाई देते हुए कहा कि, रघुवंश प्रसाद सिंह कोरोना के कारण क्वारेंटाइन में हैं. रामचंद्र पूर्वे और शिवानन्द तिवारी ज्यादा उम्र की वजह से नहीं आ पाए है. रघुवंश प्रसाद सिंह से हम मिलना चाहते थे, लेकिन मिल नहीं सके.

‘लालू को संसद में होना चाहिए था’
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि, लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) की आज सबसे ज्यादा जरूरत है. लालू प्रसाद यादव को संसद में होना चाहिए था. लेकिन उन्हें उनकी विचारधारा के कारण पार्लियामेंट जाने से रोक दिया गया है.

हम बिहार क्या, दिल्ली में भी झंडा फहरा देंगे
हालांकि, इस दौरान तेजस्वी यादव ने पार्टी के नेताओं के बीच आपसी मतभेद की बात को खुले मंच से स्वीकार किया. तेजस्वी ने कहा कि, जिस दिन पार्टी के नेता अपने व्यक्तिगत स्वार्थ और आपसी मतभेद को छोड़कर पार्टी के विषय के बारे में सोचेंगे, उस दिन हम बिहार क्या, दिल्ली में भी झंडा फहरा देंगे.

तेजस्वी ने फिर मांगी माफी
तेजस्वी ने कहा कि, हमारे 15 सालों के शासनकाल में बहुत काम हुआ है. लेकिन उस 15 सालों में तेजस्वी नहीं था. अगर हमसे कहीं कोई गलती हुई तो, मैं माफी मांगता हूं. अगर हमसे कोई भूल हो गई तो, हमको माफ कर दीजिए. जिसका रीढ़ का हड्डी होती है, वही झुकता है. जिसकी हड्डी नहीं होती है, वो रेंगता है. हमारे नेता ने कभी विचार से समझौता नहीं किया.

‘क्या नीतीश कुमार माफी मांगेंग?’
आरजेडी नेता ने कहा, ‘मैं नीतीश जी से पूछता हूं. क्या नीतीश जी माफी मांगेंगे. 55 घोटाले हुए, अपराध के लिए, सीएए के लिए, बेरोजगारी के लिए, गरीबो का पलायन नहीं रुका, सृजन घोटाले, बालिका गृह कांड के लिए नीतीश कुमार को माफी मांगनी चाहिए कि नहीं.’

RJD नेताओं से हाथ जोड़कर की अपील
इस दौरान, तेजस्वी यादव ने पार्टी नेताओं से हाथ जोड़कर अपील की. उन्होंने कहा कि, सभी नेता सिर्फ एक चुनाव के लिए एकजुट हो जाएं. साथ ही, उन्होंने नेताओं से सावधान रहने की भी अपील की है

‘महंगाई अब BJP की भौजाई हो गई’
तेजस्वी यादव ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि, भाजपा पहले महंगाई को डायन बताती थी. अब महंगाई उनके लिए भौजाई हो गई है. बारिश में बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी (Sushil Modi) भाग जाते हैं. वहीं, तेजस्वी ने आरजेडी कार्यकर्ताओं से अपील किया कि, इस बार अगर डिप्टी सीएम बारिश में भागे तो, पार्टी के कार्यकर्ता भागने में उनकी मदद करे

पटना: बिहार की राजधानी पटना में आरजेडी (RJD) कार्यालय में रविवार को राजद का 24वां स्थापना दिवस मनाया गया. इस दौरान तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav), तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ राबड़ी देवी (Rabri Devi) के आवास से आरजेडी ऑफिस साइकिल से पहुंचे और स्थापना दिवस समारोह के आयोजन

तेजस्वी ने दी सफाई
बता दें कि, रघुवंश प्रसाद सिंह ने बीते दिनों आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सहित तमाम पदों से इस्तीफा देते हुए अपनी नाराजगी जाहिर की थी. इधर, तेजस्वी यादव ने वरिष्ठ नेताओं के गायब रहने पर सफाई देते हुए कहा कि, रघुवंश प्रसाद सिंह कोरोना के कारण क्वारेंटाइन में हैं. रामचंद्र पूर्वे और शिवानन्द तिवारी ज्यादा उम्र की वजह से नहीं आ पाए है. रघुवंश प्रसाद सिंह से हम मिलना चाहते थे, लेकिन मिल नहीं सके.

‘लालू को संसद में होना चाहिए था’
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि, लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) की आज सबसे ज्यादा जरूरत है. लालू प्रसाद यादव को संसद में होना चाहिए था. लेकिन उन्हें उनकी विचारधारा के कारण पार्लियामेंट जाने से रोक दिया गया है.

हम बिहार क्या, दिल्ली में भी झंडा फहरा देंगे
हालांकि, इस दौरान तेजस्वी यादव ने पार्टी के नेताओं के बीच आपसी मतभेद की बात को खुले मंच से स्वीकार किया. तेजस्वी ने कहा कि, जिस दिन पार्टी के नेता अपने व्यक्तिगत स्वार्थ और आपसी मतभेद को छोड़कर पार्टी के विषय के बारे में सोचेंगे, उस दिन हम बिहार क्या, दिल्ली में भी झंडा फहरा देंगे.

तेजस्वी ने फिर मांगी माफी
तेजस्वी ने कहा कि, हमारे 15 सालों के शासनकाल में बहुत काम हुआ है. लेकिन उस 15 सालों में तेजस्वी नहीं था. अगर हमसे कहीं कोई गलती हुई तो, मैं माफी मांगता हूं. अगर हमसे कोई भूल हो गई तो, हमको माफ कर दीजिए. जिसका रीढ़ का हड्डी होती है, वही झुकता है. जिसकी हड्डी नहीं होती है, वो रेंगता है. हमारे नेता ने कभी विचार से समझौता नहीं किया.

‘क्या नीतीश कुमार माफी मांगेंग?’
आरजेडी नेता ने कहा, ‘मैं नीतीश जी से पूछता हूं. क्या नीतीश जी माफी मांगेंगे. 55 घोटाले हुए, अपराध के लिए, सीएए के लिए, बेरोजगारी के लिए, गरीबो का पलायन नहीं रुका, सृजन घोटाले, बालिका गृह कांड के लिए नीतीश कुमार को माफी मांगनी चाहिए कि नहीं.’

RJD नेताओं से हाथ जोड़कर की अपील
इस दौरान, तेजस्वी यादव ने पार्टी नेताओं से हाथ जोड़कर अपील की. उन्होंने कहा कि, सभी नेता सिर्फ एक चुनाव के लिए एकजुट हो जाएं. साथ ही, उन्होंने नेताओं से सावधान रहने की भी अपील की है

‘महंगाई अब BJP की भौजाई हो गई’
तेजस्वी यादव ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि, भाजपा पहले महंगाई को डायन बताती थी. अब महंगाई उनके लिए भौजाई हो गई है. बारिश में बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी (Sushil Modi) भाग जाते हैं. वहीं, तेजस्वी ने आरजेडी कार्यकर्ताओं से अपील किया कि, इस बार अगर डिप्टी सीएम बारिश में भागे तो, पार्टी के कार्यकर्ता भागने में उनकी मदद करें.

‘हमें सिर्फ एक मौका दीजिए’
आरजेडी नेता ने कहा कि, अगर आगामी चुनाव के बाद, हमारी सरकार बनी तो हर हाथ को रोजगार देंगे. तेजस्वी ने जनता से अपील किया कि, हमे सिर्फ एक मौका दीजिए. एक बार हमारी सरकार आने दीजिए, सबको मान-सम्मान मिलेगा.

तेजस्वी यादव ने कार्यकर्ताओं को कोरोना वायरस (Coronavirus) से संभलकर रहने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि, बिहार मजबूत होते ही, लेकिन गाइडलाइन का पालन करते हुए, हमें अपना काम करना है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: