शनिवार, नवम्बर 27Digitalwomen.news

India China Face Off: India deploys air defence missile systems in eastern Ladakh

भारत ने पूर्वी लद्दाख सीमा पर तैनात कि अपनी अत्याधुनिक एयर डिफेंस मिसाइल

भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में तनाव कम होने की बजाय बढ़ता ही जा रहा है। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर चीन के लड़ाकू विमानों और हेलीकॉप्टर्स की बढ़ती गतिविधियों के बीच भारत ने भी अपनी अत्याधुनिक एयर डिफेंस मिसाइलों को पूर्वी लद्दाख में तैनात कर दिया है। भारत के बेहद तेज एयर डिफेंस मिसाइलों में आकाश मिसाइल भी शामिल है जो बेहद तेज गति से उड़ रहे लड़ाकू विमानों और ड्रोन को भी कुछ ही सेकंड में मार गिरा सकता है। डी आर डी ओ द्वारा किये गए मोडिफिकेशन के बाद इसे पहाड़ों पर तैनाती के लिए तैयार किया जा चुका है। यदि चीन के किसी विमान ने एलएसी को पार किया तो इन मिसाइलों के जरिए उन्हें हवा में ही ध्वस्त किया जा सकता है।

सीमा पर मौजूदगी और ताकत को बढ़ाने के क्रम में भारतीय सेना और इंडियन एयरफोर्स ने एयर डिफेंस सिस्टम को तैनात कर दिया है, ताकि पीपल्स लिब्रेशन आर्मी (PLA) के लड़ाकू विमान या हेलीकॉप्टर्स यदि कोई दुस्साहस करते हैं तो उनको ध्वस्त किया जा सके।

चीन के हेलीकॉप्टर्स सीमा के बेहद करीब उड़ रहे हैं। मौजूदा तनाव वाले सभी स्थान जिनमें दौलत बेग ओल्डी सेक्टर, गलवान घाटी, पेट्रोलिंग पॉइंट 14, 15, 17 और 17 ए के अलावा पैंगोंग त्सो फिंगर 3 इलाके के नजदीक चीनी विमान उड़ रहे हैं।

हालांकि बढ़ती चीनी सैनिको की तादाद एवं के नजदीक चीनी विमानों की गतिविधियों के जवाब में भारत ने भी अपने सैनिकों की संख्या बढ़ाई है और साथ साथ सभी को किसी भी परिस्थितियों के लिए तैयार रहने को कहा है। साथ ही भारत ने भी पूर्वी लद्दाख के आसपास के एयरबेस से उड़ान भरने वाले सभी लड़ाकू विमान को हथियारों से पूरी तरह लैस रखा है जो कि जरूरत पड़ने पर बिना वक्त गंवाए अपने मिशन को अंजाम दे सकते हैं। भारत का सर्विलांस सिस्टम दुश्मन की हर गतिविधि पर नजर बनाए हुए है। वहीं मई के पहले सप्ताह में जब चीनी सैनिकों ने एलएसी की ओर कदम बढ़ाए उसी समय भारत ने अपने सर्वश्रेष्ठ लड़ाकू विमान Su-30MKIs को पूर्वी लद्दाख में तैनात कर दिया था।

Leave a Reply

%d bloggers like this: