शनिवार, दिसम्बर 4Digitalwomen.news

International Yoga Day 2020: PM Modi says “Pranayam builds immunity needed to defeat coronavirus”.

6वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री का संदेश, योग की जरूरतों पर दिया बल

दुनियाभर में कोरोना वायरस संकट के बीच आज आंतरारष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अवसर पर देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि विश्व कोरोना वायरस महामारी के कारण योग की आवश्यकता को आज और भी अधिक महसूस कर रहा है। यदि हमारी इम्युनिटी मजबूत है तो यह बीमारी से लड़ने में मदद करता है। ऐसे कई योग अभ्यास हैं, जो हमारी इम्युनिटी को बढ़ावा देते हैं और मेटाबोलिज्म सुधारते है।

प्रधानमंत्री ने योग से होने वाले फायदे से लोगों को कराया अवगत

प्रधानमंत्री ने कहा की ‘कोरोना हमारे श्वसन तंत्र पर अटैक करता है। प्राणायाम से इस तंत्र को मजबूत करने में सबसे ज्यादा मदद मिलती है। प्राणायाम के अनेक प्रकार हैं। अगर आप प्राणायाम जानने वालों से मिलेंगे तो बताएंगे कि इसके कितने प्रकार हैं। अनुलोम-विलोम, भ्रामरी आदि। इससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है।आप प्राणायाम को अपने डेली अभ्यास में जरूर शामिल कीजिए।अनुलोम-विलोम के साथ दूसरी भी पद्धतियों को सीखने की कोशिश कीजिए। योग की मदद से लोगों को कोरोना बीमारी को हराने में मदद मिल रही है। योग से हमें वह आत्मविश्वास भी मिलता है, जिससे हम तनाव दूर कर सकते हैं। इससे हमें मानसिक शांति के साथ संयम और सहनशक्ति भी मिलती है।

प्रधानमंत्री मोदी ने संस्कृत के 3 श्लोकों से योग की अहमियत बताई

गीता में भगवान कृष्ण ने योग की व्याख्या करते हुए कहा है की ‘योगः कर्मसु कौशलम्’ यानी कर्म की कुशलता ही योग है।
”योग का अर्थ ही है- समत्वम् योग उच्यते। यानी अनुकूलता-प्रतिकूलता, सफलता-विफलता, सुख-संकट, हर परिस्थिति में समान रहने, अडिग रहने का नाम ही योग है।
”युक्त आहार विहारस्य, युक्त चेष्टस्य कर्मसु। युक्त स्वप्ना-व-बोधस्य, योगो भवति दुखहा। यानी सही खान-पान, सही ढंग से खेल-कूद, सोने-जागने की सही आदतें, और अपने काम, अपनी ड्यूटी को सही ढंग से करना ही योग है।

प्रधानमंत्री ने दिया एकता का संदेश

पीएम मोदी ने इससे पहले सभी को 6 वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं दी और कहा कि यह दिन एकजुटता और भाईचारे का दिन है। यह एकता के लिए एक शक्ति के रूप में उभरा है और मानवता के बंधनों को गहरा करता है। यह भेदभाव नहीं करता। यह जाति, रंग, विश्वास और वंश से परे है। पीएम मोदी ने कहा की बच्चे, बड़े, युवा, परिवार के बुजुर्ग, सभी जब एक साथ योग के माध्यम से जुडते हैं, तो पूरे घर में एक ऊर्जा का संचार होता है। इसलिए, इस बार का योग दिवस, भावनात्मक योग का भी दिन है और यह हमारी फैमिली बॉन्डिंग को भी बढ़ाने का दिन है।योग दिवस एकजुटता का दिन है। जो हमें साथ लाता है वही तो योग है इस बार योग दिवस की थीम “योग एट होम है” हम सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए योग करेंगे साथ ही प्रधानमंत्री ने अपने संदेश में यह भी कहा की अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि योग के प्रति दुनियाभर में उत्साह बढ़ रहा है। कोरोना के चलते दुनिया योग की जरूरत पहले के तुलना में अधिक समझ रही है।

योग दिवस दुनियाभर में पहली बार 21 जून 2015 को मनाया गया और तभी से हर वर्ष उस दिन को योग दिवस के तौर पर मनाया जाता है लेकिन यह पहला मौका होगा जब इसे डिजिटल तरीके से मनाया जाएगा। इससे पहले आयुष मंत्रालय ने लेह में बड़ा कार्यक्रम करने की योजना बनाई थी, लेकिन कोरोना महामारी के कारण इसे रद्द कर दिया गया ।

इससे पहले आयुष मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि अभिनेता अक्षय कुमार और अभिनेत्री अनुष्का शर्मा समेत विभिन्न हस्तियों ने लोगों को छठा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिये प्रोत्साहित करने को लेकर प्रेरक संदेश भेजे हैं।

1 Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: