शनिवार, नवम्बर 27Digitalwomen.news

Happy Mothers Day – हैप्पी मदर्स डे

हैप्पी मदर्स डे

दुआओं का बरगद माँजिसकी छाँव में रहना चाहते सबमोहब्बत की वो सरहद ‘माँ’

उसके जैसा हो ही नहीं सकता कोई दूजाउसकी बोली आरती,  है ख़ुद ही वो पूजापास रहूँ या दूर रहूँ, हमेशा उसकी नज़र में हूँकभी उसका सच्चा बच्चा, कभी मैं सबसे झूठा  

मेरी आँखों की हलचल पढ़ ले जोमेरे हिस्से का सारा ग़म सह ले जोकई पकवान खिला कर भीकितना कम खाया है, ये कह दे जो 

वो जिसके लिए महँगा नहीं कोई खिलौनावो जिसकी आँचल में छिपा है ख़्वाब सलोनाथका-हारा देख मुझे वो सिरहाने तक चली आएफिर धीरे से कह दे, खाना खा लो फिर आराम से सोना

प्रेम के अनहद राग की हद ‘माँ’दुआओं का बरगद माँजिसकी छाँव में रहना चाहते सबमोहब्बत की वो सरहद ‘माँ’‘सुमन’
Happy Mother’s Day!

By Prashant Suman

Leave a Reply

%d bloggers like this: